दा इंडियन वायर » राजनीति » दुष्कर्म की घटनाओं पर प्रधानमंत्री चुप क्यों? : राहुल गांधी
राजनीति

दुष्कर्म की घटनाओं पर प्रधानमंत्री चुप क्यों? : राहुल गांधी

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां सोमवार को सवाल उठाया कि देश में दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुप क्यों हैं? राहुल ने हजारीबाग जिले के बड़कागांव में एक रैली संबोधित करते हुए कहा, “भारत दुनिया का ‘रेप कैपिटल’ बन गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुष्कर्म की घटनाओं पर चुप्पी साधे हुए हैं। उत्तरप्रदेश में उनके विधायक पर दुष्कर्म का आरोप है, वह चुप्पी साधे हुए हैं। देश में महिलाओं को जिंदा जलाया जाता है, गोली मारी जाती है, दुष्कर्म किया जाता है, मोदी चुप्पी साधे रहते हैं।”

बड़कागांव में दो वर्ष पहले भूमि अधिग्रहण के मामले में राज्य सरकार के विरुद्ध प्रदर्शन के दौरान गोलीबारी में पांच किसानों की मौत हो गई थी।

राहुल ने कहा, “महिलाओं और किसानों को गोली का निशाना बनाया जाता है। महिलाएं बिना डर के अपने घर से बाहर नहीं निकल सकती हैं।”

उन्होंने कहा, “मोदी किसानों की रक्षा करने का दावा करते हैं, जबकि किसानों की भूमि छीनी जा रही है। जब किसान प्रदर्शन करते हैं, तो उन्हें मार दिया जाता है। हम किसानों की जमीन की सुरक्षा के लिए भूमि अधिग्रहण अधिनियम लेकर आए थे। नियम के अनुसार, किसानों की जमीन को पंचायत की अनुमति के बिना नहीं लिया जा सकता था, लेकिन मोदी ने इसका विरोध किया। मोदी ने अपने मुख्यमंत्री को इसे लागू नहीं करने के लिए कहा।”

उन्होंने कहा, “मोदी भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ने का दावा करते हैं, लेकिन उनके झारखंड के मुख्यमंत्री सबसे भ्रष्ट राजनेताओं में से एक हैं।”

कांग्रेस नेता ने नोटबंदी और जीएसटी जैसे आर्थिक मुद्दों को लेकर भी प्रधानमंत्री पर निशाना साधा।

राहुल ने कहा, “मोदी का चेहरा टीवी पर बार-बार दिखाया जाता है, क्योंकि आपके पैसे अडाणी और अंबानी को दे दिए जाते हैं और वे ही ये चैनल चलवाते हैं। क्या आपने कभी मोदी को किसानों और गरीब लोगों को गले लगाते देखा है? लेकिन आप उन्हें उद्योगपतियों को गले लगाते देखेंगे। सरकार केवल 10 से 15 उद्योगपतियों के लिए चल रही है। सभी सार्वजनिक उपक्रम इन कंपनियों को सौंपा जा रहा है। केंद्र सरकार सरकारी कर्मचारियों की पेंशन खत्म कर रही है।”

उन्होंने कहा, “आज पूरे देश में नफरत का माहौल है, जबकि जितनी नफरत फैलेगी, उतनी ही बेरोजगारी बढ़ेगी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने देश की अर्थव्यवस्था को गड्ढे में धकेल दिया है।”

उन्होंने कहा, “झारखंड गरीब नहीं है, झारखंड की जनता गरीब नहीं है। झारखंड में जल, जंगल, जमीन सबकुछ है।”

किसानों के कर्ज माफ करने और पिछड़ों के लिए आरक्षण देने का वादा करते हुए राहुल ने कहा, “जिस तरह छत्तीसगढ़ में धान के प्रति कुंटल 2500 रुपये मिल रहे हैं, उसी तरह झारखंड के किसानों को भी धान का उचित मूल्य मिलेगा। हम उनका दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ करेंगे। जिसकी जमीन छीनी गई है, उनको मुआवजे के साथ जमीन वापस दिलाएंगे।”

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!