Tue. Dec 6th, 2022
    भारत वायु प्रदूषण

    प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन भूरे लाल ने चेतावनी देते हुए कहा है कि दिल्ली की हालत बहुत खराब है। उन्होंने कहा  कि अगर दिल्ली की हवा और बिगड़ी तो दिल्ली की सड़कों पर सभी प्राइवेट वाहनों को प्रतिबंधित करना पड़ेगा।

    मंगलवार को दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को दिल्ली एयर क्वालिटी इंडेक्स 397 रिकॉर्ड किया गया। सिर्फ 3 जगहों पर हवा में प्रदूषण का स्तर इससे कुछ कम रहा।

    एयर क्वालिटी इंडेक्स 0 से 50 के बीच सबसे अच्छा माना जाता है। 51 से 100  तक को संतोषजनक , 101 से 200 तक को ठीकठाक, 201 से 300 तक को खराब, 301 से 400  तक को बहुत खराब और 401 से 500 तक को सांस लेने अयोग्य माना जाता है।

    आज दिल्ली के 17 स्थानों पर हवा सांस लेने के योग्य नहीं थी।

    एयर क्वालिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च करने वाली संस्था ने बताया कि बीते 24 घंटों में बेतहाशा जलाई गई पराली और हवा के बंद होने जाने के कारण हवा में मौजूद कण दिल्ली के ऊपर ठहर गए हैं। जिसके कारण दिल्ली के ऊपर कोहरे की चादर सी बिछ रही है।

    दिल्ली के पडोसी नोएडा, गुड़गांव और गाज़ियाबाद में भी हालत ठीक नहीं है। गाज़ियाबाद में कुछ स्थानों पर एयर क्वालिटी इंडेक्स 430 रिकॉर्ड किया गया।

    दिल्ली सरकार ने प्रदुषण फैलाने वाले 417 कारखानों को बंद किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में पंजाब और हरियाणा के लोगों से पराली न जलाने का अनुरोध किया था। सुप्रीम कोर्ट भी दिवाली के दौरान पटाखे जलाने की अवधि सिर्फ 2 घंटे की कर चुकी हैं।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *