Wed. Feb 8th, 2023
    जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमत्री महबूबा मुफ़्ती

    जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने रविवार को एक संदिग्ध चरमपंथी की बहन से मुलाकात की थी जिसकी पुलिस ने पिटाई की थी। महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि वह दक्षिणी कश्मीर में खूनखराबे की अनुमति नहीं देंगे और न ही इसे युद्धक्षेत्र में परिवर्तित नहीं होने देंगे।

    पुलवामा में नागरिकों से मुलाकात करने के बाद महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि बल का अत्यधिक इस्तेमाल ही युवाओं को बन्द्दोक की तरफ आकर्षित करता है। पूर्व मुख्यमंत्री ने लास्सिपोरा पुलवामा का भी दौरा किया और कहा कि जनता का राजनीति को सहयोग कठोर व्यवहार करने योग्य नहीं है।

    उन्होंने आग्रह किया कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करें और सुनिश्चित करने को कहा कि भविष्य में ऐसा हादसा दोबारा न हो।

    10 वीं क्लास के परिणामों पर टिप्पणी करते हुए महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि “कल, 10 वीं के परिणाम ने युवाओं की आकांक्षाओं को दर्शाया है, अधिकतर दक्षिणी कश्मीर के युवा है। यह आगे बढ़ने और बच्चों को जीवन जीने के लिए एक आग्रह है। हमें अपनी भावी पीढ़ी को भविष्य को संवारने केलिए एकजुट होकर कार्य करने की जरुरत है। सुनिश्चित करें कि बच्चे हिंसा से दूर रहे और हमारे बच्चों को दीवार और हिंसा की तरफ खींचने वालों से सावधान रहें।

    महबूबा मुफ़्ती के आलोचकों ने उन पर आगामी चुनावों में अपनी आधाशीला को मज़बूत करने का आरोप लगाया है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *