Thu. Dec 1st, 2022
    sanya malhotra

    बॉलीवुड अभिनेत्री सान्या मल्होत्रा जिन्होंने फिल्म “दंगल” से बॉलीवुड में डेब्यू किया था, उन्होंने बताया कि कैसे 30 अन्य लड़कियों के साथ फिल्म का ऑडिशन देने के बावजूद भी उन्हें पता था कि फिल्म उन्हें ही मिलेगी।

    अपने डेब्यू के बाद से, सान्या ने ‘पटाखा’ और ‘बधाई हो’ जैसी सुपरहिट फिल्मो से दर्शको का दिल जीत लिया है। हाल ही में, उन्होंने अभिनय को लेकर अपने जूनून और फिल्मों के ऑडिशन के ऊपर बात की। हुमंस ऑफ़ बॉम्बे से बात करते हुए उन्होंने कहा-“मैं वो बच्ची थी जो हर शादी में नाचती थी। मुझे संगीत के अलावा किसी प्रोत्साहन की जरुरत नहीं थी। मेरे माता-पिता मुझे हर शादी में ले जाते थे क्योंकि उन्हें पता था कि मैं दिल खोल कर नाचूंगी।”

    “मुझे डांस बहुत पसंद था। मैंने कई प्रतियोगिता में भी डांस किया और जब मैं कॉलेज गयी तो मैं कोरियोग्राफी सोसाइटी का हिस्सा थी। हम रोज़ आठ घंटे नाच कर बिताते थे। मैं इतनी जुनूनी थी मगर मेरा असल सपना अभिनय करने का था।”

    https://www.instagram.com/p/Bu3lj1RnvAH/?utm_source=ig_web_copy_link

    उन्होंने आगे बताया कि कैसे वह मशहूर रियलिटी शो तक पहुँच गयी थी मगर फिर रिजेक्ट हो गयी। उन्होंने बताया-“मैंने कभी घर पर इसका खुलासा नहीं किया। मुझे लगा कि मेरा मजाक बनेगा। आखिरकार, ये एक बड़ा सपना था। मगर मुझे लगा कि शायद डांसिंग के जरिये मैं अभिनय तक पहुँच जाउंगी। इसलिए मैंने ‘डांस इंडिया डांस’ के लिए अप्लाई किया और टॉप 100 तक पहुँच गयी। मगर मुझे रिजेक्ट कर दिया गया क्योंकि मेरी पृष्ठभूमि की कहानी मजबूत नहीं थी।”

    “तब मैंने सोचा कि शायद मैं बिलकुल भी प्रदर्शन करने के लिए नहीं बनी हूँ। उस शो ने मुझे रिजेक्ट कर दिया हो मगर उसने मुझे बॉम्बे तक पहुँचा दिया। मैंने खुद से शपथ ली कि मैं कम से कम कोशिश करुँगी। तो मैंने अपने पिता को अभिनय के बारे में बताया। आश्चर्य से, उन्होंने मेरा समर्थन दिया और मैंने ऑडिशन देने शुरू किये।”

    https://www.instagram.com/p/BuxuubbnTU0/?utm_source=ig_web_copy_link

    https://www.instagram.com/p/BuVWJTQnyAr/?utm_source=ig_web_copy_link

    “मगर वो मुश्किल था-मैं 6 लोगों के साथ रहती थी और ऐसे भी दिन थे जब वो सब काम करने जाते थे और मैं घर पर बैठी रहती थी। मैं निराश हो जाती थी और अक्सर मेरा मन करता था कि मैं छोड़ दूँ। मगर मैं खुद को अपना सपना याद करवाती थी। धीरे धीरे, मैं व्यापार की बारीकियां सीखने लगी और कास्टिंग निर्देशक से बातचीत कर विज्ञापनों में काम करने लगी। फिर भी ऐसे महीने होते थे जब मुझे वापस कॉल नहीं आता था और मुझे बैंक बैलेंस की चिंता होने लगती थी। मगर मैं फिर भी आगे बढ़ती रही और एक साल में दस विज्ञापन किये। मैंने आत्मविश्वास बढ़ाया और खुद से वादा किया कि अपने ऊपर कभी संदेह नहीं करुँगी।”

    “दंगल” के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा-“आखिरकार मुझे मेरा पहला ऑडिशन मिल गया-दंगल। मुझे याद है मैं 30 लड़कियों के खिलाफ थी मगर मुझे बस पता था कि मेरा चयन हो जाएगा। कोई बीटीएस विडियो ले रहा था और मुझे याद है मैंने उनसे कहा-‘मैं पक्का इस फिल्म में हूँ’। मुझमे इतना आत्मविश्वास था। और मुझे किरदार मिल गया।”

    “मैं कभी उस अहसास को नहीं भूलूंगी कि आखिरकार सब उसके लायक था। मुझे बचपन से ही प्रदर्शन करना पसंद है और अब मैं यहाँ थी- बड़े पर्दे पर। जबसे मैंने अपने किरदार को अच्छे से जिया है। जबकि मैं खुद पर और संदेह नहीं करती हूँ, मुझे पता है कि मैं अभी भी सीख रही हूँ। कोई परफेक्ट नहीं होता है, मगर उसका ये मतलब नहीं है कि आप कोशिश नहीं कर सकते। ये केवल शुरुआत है, अभी बहुत कुछ है करने के लिए। मगर मुझे डांसिंग और बॉक्सिंग मिल गयी है, मैं तैयार हूँ।”

    इस दौरान, सान्या अब नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के साथ फिल्म ‘फोटोग्राफ’ में नज़र आएँगी।

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *