दा इंडियन वायर » राजनीति » त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया
राजनीति समाचार

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया

उत्तराखंड के सियासी गलियारों से इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। काफी वक्त से इस बात पर चर्चा चल रही थी कि जल्द ही उनकी कुर्सी छिन सकती है। पार्टी के कई विधायक उनसे नाराज चल रहे थे। प्रदेश के बजट सत्र के बाद और गैरसैण मंडल बनने के बाद से वे कई लोगों के निशाने पर थे। कल ही उनका महिला दिवस के उपलक्ष्य में गैरसैण में कार्यक्रम प्रस्तावित था लेकिन उन्हें अचानक ही कार्यक्रम रद्द कर के दिल्ली आना पड़ा। दिल्ली में वे अपनी पार्टी के कुछ नेताओं के साथ बीजेपी के बड़े नेताओं से मिले थे। हालांकि इस्तीफे से जुड़े सवालों के बारे में पूछने पर उन्होंने कुछ भी कहने से परहेज किया था।

आज उन्होंने देहरादून आकर अपने पद से इस्तीफा दे दिया। 4 बजे के करीब वे राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप चुके हैं। इस्तीफा देने के बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की है। त्रिवेंद्र सिंह रावत लगातार 4 साल तक उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद पर रहे। 18 मार्च को उन्हें सीएम रहते हुए 4 साल पूरे होने वाले थे। इससे पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर नारायण दत्त तिवारी के अलावा कोई भी नेता आज तक अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है।

इसी तरह के नेताओं में एक नाम त्रिवेंद्र सिंह रावत का भी शामिल हो चुका है। पार्टी की आंतरिक राजनीति के चलते उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा। ये कयास काफी समय से लगाए जा रहे थे कि त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे सकते हैं। दिल्ली आने पर भी उनको भाजपा के बड़े नेताओं द्वारा तलब किया गया था। इसके बाद उन्होंने आज आखिरकार अपना इस्तीफा दे दिया है।

त्रिवेंद्र सिंह रावत के बाद दो नेताओं के नामों की चर्चा मुख्यमंत्री पद के लिए बड़ी तेजी से चल रही है। धन सिंह रावत और अनिल बलूनी के नामों की चर्चा सबसे ज्यादा हो रही है। उम्मीद की जा रही है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ही अगले मुख्यमंत्री के नाम का प्रस्ताव रखेंगे। कुछ समय पहले तक यह कयास लगाए जा रहे थे कि शायद बीजेपी के बड़े नेताओं से मिलने के बाद रावत अपनी कुर्सी बचा लेंगे लेकिन यह संभव नहीं हो पाया। नेताओं से मिलने के बाद उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की। इसे उनके इस्तीफे के संकेत के तौर पर स्पष्ट रूप से देखा गया है।

अब यह तय है कि उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन होगा। हालांकि एक साल के लिए जो भी नया सीएम बनेगा उसके द्वारा किए जाने वाले कार्यों को देखना वाकई दिलचस्प होगा। रावत ने इस्तीफा देने के बाद अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने प्रदेश के होने वाले सीएम को शुभकामनाएं भेजी हैं। उसके अलावा उन्होंने कहा है कि अगले कुछ सवालों के जवाब दिल्ली में मिलेंगे। अब उत्तराखंड में सियासी नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों पर विराम लग चुका है और यह तय है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत अब सीएम नहीं रहेंगे। उम्मीद है कि जल्द ही नए सीएम की घोषणा भी हो जाएगी।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!