तेलंगाना में 10वीं की परीक्षा में 92 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण

Must Read

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

हैदराबाद, 13 मई (आईएएनएस)| तेलंगाना में 92 प्रतिशत से ज्यादा विद्यार्थियों ने 10वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की है। सोमवार को परिणाम घोषित किए गए।

तेलंगाना राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (टीएसबीएसई) ने घोषणा की कि माध्यमिक स्कूल प्रमाणपत्र (एसएससी) या 10वीं कक्षा की मार्च में हुई परीक्षा में 92.43 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं।

कुल 506,202 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी। लड़कियों ने एक बार फिर लड़कों को पछाड़ दिया है। लड़कियों का उत्तीर्ण प्रतिशत जहां 93.68 फीसद है, वहीं लड़कों का उत्तीर्ण प्रतिशत 91.18 फीसद है।

सर्वाधिक 99.30 प्रतिशत उत्तीर्ण विद्यार्थियों के साथ जगतियाल जिला सभी जिलों से आगे है। वहीं इस सूची में 89.09 प्रतिशत के साथ हैदराबाद सबसे पीछे है।

शिक्षा विभाग के सचिव बी. जनार्दन रेड्डी ने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में कुल उत्तीर्ण प्रतिशत में 8.65 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। करीब 4,374 स्कूलों में शत-प्रतिशत परिणाम रहे हैं।

उन्होंने घोषणा की कि उन्नत पूरक परीक्षा 10 से 24 जून तक आयोजित की जाएगी।

अधिकारियों ने पिछले महीने इंटरमीडिएट (कक्षा 11 और 12) परीक्षाओं के परिणामों में भारी गड़बड़ी के कारण एसएससी परिणाम घोषित करने में अतिरिक्त सावधानी बरती।

टीएसबीएसई ने परिणामों की घोषणा करने से पहले कई बार परिणामों को जांचा। जो विद्यार्थी एक विषय में फेल थे या अनुपस्थित थे, उनके परिणामों की गहनता से जांच की गई। अधिकारियों ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए पांच-स्तरीय जांच प्रक्रिया रखी गई थी, ताकि कोई गड़बड़ी न हो।

शिक्षा विभाग ने विद्यार्थियों को खुदकुशी से रोकने और बचाने के लिए अभिभावकों व बच्चों की काउंसिलिंग (परामर्श) करने का फैसला किया है। सभी स्कूलों को बच्चों में फिर से विश्वास जगाने के लिए काउंसिलिंग सत्र आयोजित करने को कहा गया है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी और लोगों से सवाल पूछने...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव की...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले गए, जब वे मध्य प्रदेश...

भारत में कोरोनावायरस के आंकड़े 50,000 के पार, महाराष्ट्र में सबसे भयानक स्थिति

भारत (India) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या में पिछले दो दिनों में 14 फीसदी की वृद्धि देखि गयी है। यह आंकड़ा...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -