Tue. Apr 23rd, 2024
    trs menifesto

    तेलंगाना की सत्ताधारी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति ने रविवार को अपना चुनावी घोषणापत्र जारी कर दिया। पार्टी अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव ने रविवार को हैदराबाद के परेड ग्राउंड में एक सभा के दौरान अपनी पार्टी का घोषणापत्र जारी किया। टीआरएस का घोषणापत्र कुछ पुरानी घोषणाओं और कुछ नए घोषणाओं का मिश्रण है।

    घोषणापत्र में टीआरएस ने सत्ता में आने के बाद सरकारी कर्मचारियों की रिटायरमेंट की उम्र को 58 वर्ष से बढाकर 61 वर्ष करने का वादा किया है। इसके अलावा पार्टी ने घोषणा किया कि सत्ता में आने के बाद पेंशनधारियों के लिए एक अलग निदेशालय की स्थापना की जायेगी और कर्मचारियों को उचित रूप से संशोधित वेतन का भुगतान किया जाएगा।

    पार्टी ने बेरोजगार युवाओं को प्रति माह 3,016 रुपये बेरोजगारी भत्ता देने का भी वादा किया है।

    2014 में सत्ता में आने के बाद केसीआर ने किसानों को ऋण माफ़ कर बहुत बड़ी राहत दी थी। इस बार भी उन्होंने सत्ता में आने के बाद किसानो के 1 लाख तक के लोन माफ़ करने का वादा किया है जबकि विपक्षी पार्टियों भाजपा और कांग्रेस ने अपने अपने घोषणापत्र में 2 लाख तक के लोन माफ़ करने का वादा किया है।

    एक मुख्य योजना आसरा पेंशन जिसके अंतर्गत सरकार विधवाओं और बुजुर्गों को 1,000 रुपये तक का पेंशन देती थी, उसे बढ़ा कर पार्टी ने 2,016 रुपये करने का वादा किया है। साथ ही साथ आसरा पेंशन की उम्र 65 वर्ष से घटा कर 57 वर्ष तक करने का वादा किया गया है।

    रितु बंधू स्कीम के अंतर्गत 8,000 रुपये प्रति एकड की सहायता को बढ़ा कर कर 10,000 रुपये प्रति एकड करने की धोषणा की गई है।

    सरकार ने 2014 में दो लाख घर देने का वादा किया था जिसे वो पुत्र नहीं कर पायी थी। अब सरकार ने इसमें थोडा बदलाव करते हुए कहा है कि अगर गरीबों के पास अपनी जमीन है तो वो उन्हें घर बनाने के लिए 5 लाख से 6 लाख तक की सहायता उपलब्ध कराएगी।

    राजधानी हैदराबाद को ग्लोबल सिटी बनाने का वादा किया गया है। इसके अलावा मुसलमानों को 12 फीसदी आरक्षण देने के लिए केंद्र से लड़ाई जारी रखने का वादा किया है।

    राज्य में 7 दिसंबर को विधानसभा की 119 सीटों के लिए वोट डाले जायेंगे।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *