Thu. Apr 18th, 2024
    तुषार कालिया: मैं शुरू में कत्थक नहीं सीखना चाहता था क्योंकि मुझे ये स्त्रैण (feminine) लगता था

    ‘डांस दीवाने 2’ के जज तुषार कालिया हाल ही में दिल्ली में होस्ट अर्जुन बिजलानी के साथ शो का प्रचार कर रहे हैं। तुषार जिन्होंने ‘ए दिल है मुश्किल’ जैसी फिल्मो की कोरियोग्राफी की है, ने दिल्ली टाइम्स से बात करते हुए डांस रियलिटी शो को साइन करने से पहले आशंका, स्कूल में कत्थक सीखने में संकोच और फैंस के लगातार अनुरोध के बाद भी अभिनय न करने के बारे में बात की।

    उन्होंने बताया कि कैसे वह शुरुआत में ‘झलक दिखला जा’ नहीं करना चाहते थे। उनके मुताबिक, “मैं ‘झलक’ नहीं करना चाहता था, मेरे माता-पिता ने मुझपे दवाब डाला। मैं शुरू में हिचकिचा रहा था पर अगर ‘झलक’ नहीं होता तो मैं यहाँ नहीं होता।”

    https://www.instagram.com/p/BwKA_NOlq5k/?utm_source=ig_web_copy_link

    नहीं सीखना चाहते थे कत्थक…

    तुषार ने मुंबई जाने से पहले दिल्ली में कलारी, छऊ और कंटेम्पररी में आठ साल तक प्रशिक्षण लिया, लेकिन यह उनकी माँ थी जिन्होंने उन्हें डांस करने के लिए प्रेरित किया। तुषार कहते हैं-“मेरी माँ के कारण डांस किया, वह एक कथक डांसर है और मेरे स्कूल में एक डांस टीचर भी थी। वह चाहती थी कि मैं गंभीरता से डांस को लूँ, लेकिन मैं बिल्कुल भी कथक नहीं सीखना चाहता था क्योंकि उस समय मुझे ये स्त्रैण (feminine) लगता था। मुझे तब डांस का कोई ज्ञान नहीं था। एक दिन, मैं दिल्ली के कमानी सभागार में एक प्रदर्शन देखने गया था, मेरे गुरु संतोष नायर वहाँ प्रदर्शन कर रहे थे और प्रदर्शन कलारी, छऊ और कंटेम्पररी का संयोजन था। जब मैंने उसे देखा, तो मैं उसे सीखना चाहता था और अगले दिन, मैंने कक्षाओं में दाखिला ले लिया।”

    https://www.instagram.com/p/BwoGUEEjNSx/?utm_source=ig_web_copy_link

    माँ ने किया ‘झलक दिखला जा’ करने के लिए प्रेरित…

    उन्होंने अपने माता-पिता का धन्यवाद करते हुए कहा-“मैं ‘झलक दिखला जा’ नहीं करना चाहता था क्योंकि मुझे लगा कि यह बहुत कमर्शियल है, लोग बॉलीवुड नंबरों पर प्रदर्शन करते हैं। मैं ‘चिकनी चमेली’ नहीं करना चाहता था, लेकिन ऐसा हुआ। मैंने ‘झलक’ इसलिए किया क्योंकि मेरी माँ ने मुझसे कहा था-‘तुझे टीवी पर देखना है’। और मैं बहुत खुशकिस्मत था कि ‘झलक’ ने क्लिक किया, मुझे उसी साल ‘इंडियाज गॉट टैलेंट’ के लिए स्टेज डायरेक्टर बनना पड़ा और करण जौहर दोनों प्लेटफार्मों में बैठे थे और ऐसी मुझे ‘ऐ दिल है मुश्किल’ मिली। अगर मैं ‘झलक’ नहीं करता तो मुझे फिल्मो में अपना पहला ब्रेक नहीं मिलता।”
    अभिनेता बनने में कोई दिलचस्पी नहीं…
    सोशल मीडिया पर उनके प्रशंसक उनसे अभिनय में हाथ आजमाने का अनुरोध करते रहते हैं लेकिन कोरियोग्राफर ने कहा-“मैं एक अभिनेता नहीं बनना चाहता, मैं इंडस्ट्री में एक कोरियोग्राफर के रूप में बढ़ना चाहता हूँ और बाद में जीवन में शायद एक फिल्म का निर्देशन कर सकता हूँ लेकिन मैं इसमें अभिनय नहीं करूंगा। मेरे लिए, यह विभिन्न चीजों को सीखने की एक प्रक्रिया है और मैं एक कलाकार के रूप में बढ़ना चाहता हूँ। मैं अभिनेता नहीं हूँ और न ही इसमें कोई दिलचस्पी है। मुझे अपनी नौकरी से प्यार है, मुझे डांसिंग का बहुत शौक है और जब मैं कोरियोग्राफ करता हूँ तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। मैं 12 साल से डांस कर रहा हूँ और मुझे नहीं लगता कि मैं इसके अलावा कुछ भी कर सकता हूँ।”

     

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *