सोमवार, नवम्बर 18, 2019

तुर्की दस लाख शरणार्थियो को वापस सीरिया भेजेगा: एर्दोगन

Must Read

राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू की सांसदों से अपील संसदीय प्रवर समिति की बैठक में शामिल हो

पिछले हफ्ते वायु प्रदूषण पर महत्वपूर्ण बैठक में विभिन्न सांसदों के गैरहाजिर होने की वजह से बैठक स्थगित होने...

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन से दिए क्रिकेट को अलविदा कहने के संकेत

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने सोमवार को कहा है पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जाने...

इलेक्टोरल बांड को लेकर प्रियंका गांधी का भाजपा सरकार पर हमला, कहा आरबीआई को दरकिनार कर मंजूरी दी गई

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को इलेक्टोरल बांड का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि इन्हें भारतीय रिजर्व...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

सीरिया ने तुर्की में आकर्मक कार्रवाई को शुरू कर दिया है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय में इस पर चिंता व्यक्त की है। राष्ट्रपति रिचप तैयाब एर्दोगन ने मंगलवार को कहा कि “तुर्की पहला कदम लेते हुए दस लाख शरणार्थियो को सीरिया में  वापस भेजेगा।”

बाकू में तुर्कीक परिषद् को संबोधित करते हुए एर्दोगन ने कहा कि “भगवान की मदद से, हमें बेहद कम समय में इराक के साथ सीमा को सुरक्षित कर देंगे और पहले कदम के तौर पर दस लाख शरणार्थियो को सीरिया वापस भेजा जायेगा और दुसरे कदम में 20 लाख शरणार्थियो को वापस भेजा जायेगा।”

तुर्की के नेता ने सीरिया के शरणार्थियो के लिए दरवाजो को खेलने का संकल्प लिया है। अंकारा ने उत्तरी सीरिया में आक्रमक अभियान को लांच किया था। ऑपरेशन पीस स्प्रिंग को सीरिया में घुसपैठ करार दिया था।

तुर्की ने उत्तरी सिरे में कुर्द विद्रोहियों के खिलाफ आक्रमक कार्रवाई की शुरुआत की थी और इसका प्रारंभ अमेरिकी के सैनिको की सीरिया से वापसी के बाद हुआ था। इस आक्रमकता को हरी झंडी देने के लिए ट्रम्प की काफी आलोचना हुई थी।

तुर्की ने उत्तरी सिरे में कुर्द विद्रोहियों के खिलाफ आक्रमक कार्रवाई की शुरुआत की थी और इसका प्रारंभ अमेरिकी के सैनिको की सीरिया से वप्सिऊ के बाद हुआ था। इस आक्रमकता को हरी झंडी देने के लिए ट्रम्प की काफी आलोचना हुई थी।

एर्दोगन ने कुर्द नेतृत्व वाली सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज को कुचलने का संकल्प लिया है। तुर्की शरणार्थियो को खाड़ी में रखने के लिए अपनी सीमा पर लगभग 30 किलोमीटर पर बफर ज़ोन बनाना चाहता है और साथ ही अपनी सरजमीं पर 36 लाख सीरियाई शरणार्थियों में से कुछ को वापस भेजना चाहता है।

 

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू की सांसदों से अपील संसदीय प्रवर समिति की बैठक में शामिल हो

पिछले हफ्ते वायु प्रदूषण पर महत्वपूर्ण बैठक में विभिन्न सांसदों के गैरहाजिर होने की वजह से बैठक स्थगित होने...

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन से दिए क्रिकेट को अलविदा कहने के संकेत

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने सोमवार को कहा है पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज के बाद...

इलेक्टोरल बांड को लेकर प्रियंका गांधी का भाजपा सरकार पर हमला, कहा आरबीआई को दरकिनार कर मंजूरी दी गई

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को इलेक्टोरल बांड का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि इन्हें भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को दरकिनार करते...

मोइन अली ने कहा, आईपीएल जीतने के लिए आरसीबी नहीं रह सकती विराट कोहली और डिविलियर्स के भरोसे

इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी मोइन अली उन दो विदेशी खिलाड़ियों में से हैं जिन्हें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी...

श्रीलंका राष्ट्रपति चुनाव: गोटाबाया राजपक्षे की जीत पर पाकिस्तान के राजनैतिक गलियारों में खुशी, भारत के लिए झटका

श्रीलंका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में गोटाबाया राजपक्षे की जीत पर पाकिस्तान के राजनैतिक गलियारों में खुशी जताई जा रही है। मीडिया में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -