Tue. Jul 23rd, 2024

    गुरवार को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने तिरुपति के पास के ओद्योगिक क्षेत्र में सिलिकॉन सिटी एवं इसके साथ तिरुपाई, नेल्लोर एवं चेन्नई के बीच सिलिकॉन कॉरिडोर बनाने की घोषणा की है।

    कब हुई यह घोषणा ?

    यह घोषणा उस समय हुई जब नायडू ने टीसीएल के चेयरमैन एलआई डोंगशेंग और आईटी मंत्री नारा लोकेश एवं कुछ अधिकारियों के साथ गुरुवार को आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले के तिरुपति में टीसीएल की इकाई के लिए आधारशिला रखी। इस भाषण को देते समय नायडू ने आठ महीने में इकाई शुरू करने की योजना पर कंपनी की सहमति की सराहना भी की।

    चीन के शेनजेन से की तुलना

    तिरुपाई, नेल्लोर एवं चेन्नई सिलिकॉन कॉरिडोर को अगला शेनजेन बताते हुए नायडू बोले की यह इस देस का सबसे उन्नत औद्योगिक कॉरिडोर बनेगा एवं चीन के शेनजेन का एक ख़ासा प्रतिद्वंदी होगा। शेनजेन में दुनिया की शीर्ष प्रोद्योगिकी वाली कंपनियों के होने की वजह से उसे वहाँ की सिलिकॉन वैली माना जात है।

    सरकार करेगी बड़ा निवेश

    नायडू ने बताया की इसकी स्थापना के साथ साथ सरकार इसमें 22000 करोड़ का निवेश भी करेगी ताकि इसमें ज्यादा नयी कंपनियों को अपने व्यवसाय स्थापित करने के लिए बुलाया जा सके एवं लोगों के लिए ज्यादा से ज्यादा रोज़गार के अवसर पैदा हो सकें। इससे पहले मैंने साइबराबाद बनाया था एवं अब मैं सिलिकॉन सिटी का निर्माण करने जा रहा हूँ। हम मिलकर शेनजेन को कड़ी प्रतिस्पर्धा देंगे।

    मिलेगा 1 लाख लोगों को रोजगार

    इस कार्यक्रम में नायडू ने आगे कहा कि यह सुविधा 155 एकड़ भूमि में स्थापित की जा रही है और चित्तूर राज्य के 70% रोजगार पैदा करेगा। इसके स्थापित होने से लगभग 1 लाख रोज़गार के अवसर मिलेंगे जिससे इस राज्य के ज्यादा लोगों को रोज़गार मिलेगा।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *