Mon. May 27th, 2024
    तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर

    तनुश्री दत्ता के यौन उत्पीड़न के मामले में एक कदम आगे बढ़ते हुए मुंबई पुलिस ने सुधीर पांडे का बयान दर्ज किया है।सुधीर सिने और टीवी कलाकार एसोसिएशन (सीएनटीटीए) के सदस्य थे और उन्होंने 2008 में नाना पाटेकर, गणेश आचार्य और राकेश सारंग के खिलाफ तनुश्री की शिकायत की जाँच की थी। पुलिस, इस घटना के समय उपस्थित या  तनुश्री से सम्बंधित लोगों के बयान भी रिकॉर्ड कर रही है।

    इसकी पुष्टि करते हुए, मुंबई मिरर ने एक सूत्र का हवाला देते हुए कहा, “एफआईआर में नामित लोगों के बयान भी जांच के बाद दर्ज किए जाएंगे और जो चीज़े हुई हैं उसके वीडियो पुनर्प्राप्त किए जाएंगे।”

    तनुश्री की शिकायत के बारे में बात करते हुए सुधीर पांडे ने कहा, “मैंने मामले के तथ्यों, शिकायतकर्ता और पार्टी के बीच बैठक के सारे तथ्य और सुबूत पुलिस को दे दियें हैं। यह मामला यौन उत्पीड़न का था और तनुश्री ने पुलिस केस भी किया था , इसलिए हमने मानक प्रक्रिया का पालन किया। ”

    इससे पहले मीडिया के साथ बातचीत में, सीएनटीटीए के महासचिव सुशांत सिंह ने कहा कि संगठन यौन उत्पीड़न के मामलों पर विभिन्न जांच एजेंसियों के साथ सहयोग कर रहा है।

    अभिनेता ने कहा, “हम नाना पाटेकर-तनुश्री दत्ता, आलोक नाथ-विंता नंदा और फ्लोरा सैनी-गौरंग दोशी के मामलों में  हम पुलिस की मदद कर रहे हैं। हम अपनी कार्यवाही करने के लिए कानूनी सलाह ले रहे हैं।”

    अगस्त में, तनुश्री दत्ता ने आरोप लगाया कि ”हॉर्न ओके प्लीज के सेट पर अभिनेता नाना पाटेकर ने उनको हरेस किया था।  2008 में, उन्होंने सिंटा में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

    अपनी शिकायत में, उन्होंने फिल्म के कोरियोग्राफर गणेश आचार्य, निर्देशक राकेश सारंग और निर्माता समी सिद्दीकी के खिलाफ भी आरोप लगाया की उनके शिकायत करने के बावजूद भी उनमें से कोई  उनके बचाव में सामने नहीं आया था बल्कि ये लोग नाना पाटेकर का साथ दे रहे थे।

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *