Sun. Apr 21st, 2024
    एमएस धोनी- ड्वेन ब्रावो

    रविवार को चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए मैच में ड्वेन ब्रावो ने सीएसके की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। आखिरी ओवर में जब राजस्थान रॉयल्स की टीम को जीत के लिए 12 रन चाहिए थे और स्ट्राक पर बेन स्टोक्स थे तो धोना ने वेस्टइंडीज के आलराउंडर खिलाड़ी को गेंद सौंपी। और ब्रावो ने धोनी के विश्वास को बेकार नही जाने दिया और मैच के आखिरी ओवर में बेन स्टोक्स और जोफ्रा आर्चर का विकेट लेकर टीम को 6 रन से एक शानदार जीत दर्ज करवा दी। इस जीत के साथ सीएसके की टीम ने इस संस्करण में लगातार तीन मैच जीत लिए है।

    ब्राबो ने आखिरी ओवर की पहली गेंद में बेन स्टोक्स का विकेट लिया और उसके अगली गेंद में ही उन्होने श्रेयस गोपाल का भी विकेट लिया। ऑर्चर इससे पहले ओवर में अपना बल्ला घुमाते नजर आए थे लेकिन ब्रावो की गेंदबाजी के सामने वह भी असफल नजर आए। ब्रावो इस समय 37 साल के है लेकिन उम्र बढ़ने के साथ धोनी का उनपर विश्वास बिलकुल भी कम नही हुआ है और मुश्किल परिस्थितियों में धोनी हमेशा उन्हे ही गेंद सौंपते है। मैच के बाद ब्रावो ने अपने कप्तान एमएस धोनी की प्रशंसा की और कहा कि उनको खेलता देख एक अलग ऊर्जा मिलती है।

    ब्रावो ने कहा, “अपनी ऊर्जा को बंद करना और उन्होने मुझे सकारात्मक बनने के लिए प्रोत्साहित किया, यह महत्वपूर्ण है। मुझे उनके साथ बल्लेबाजी करने में मजा आता है क्योंकि वह बल्लेबाजी को इतना आसान बनाते है। वह विपक्ष को बहुत दबाव में रखते हैं।”

    राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच में धोनी ने टीम के लिए अहम भूमिका निभाई थी। वह रॉयल्स के खिलाफ एक विस्फोटक अंदाज में नजर आए और उन्होने 46 गेंदो में 75 रन की नाबाद पारी खेली। वह तब बल्लेबाजी करने आए थे जब चेन्नई की टीम के 27 रन पर 3 विकेट थे और वह जब बल्लेबाजी करने आए तो ज्यादा जोखिम लेते हुए नही खेल रहे थे और अपनी पारी को आराम से आगे बढ़ा रहे थे। लेकिन आखिरी में जो बल्लेबाजी धोनी द्वारा देखने को मिली थी वह काबिले तारीफ थी। धोनी ने जयदेव उनादकट के आखिरी ओवर में 28 रन बनाए और टीम के स्कोर को 170 रन तक पहुंचाया।

    सीएसके अब अपने अगले मैच में बुधवार को मुंबई इंडियंस के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम में भिड़ेगी।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *