Thu. Dec 8th, 2022
    kim jong un and donald trump

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को कहा कि वह उत्तर कोरिया के नेता किंम जोंग उन के साथ इस सप्ताहांत मुलाकात करना चाहेंगे। डोनाल्ड ट्रम्प जापान में आयोजित जी 20 सम्मेलन के बाद दक्षिण कोरिया की यात्रा पर जाएंगे।

    डोनाल्ड ट्रम्प शनिवार को दक्षिण कोरिया पहुचेंगे और राष्ट्रपति मून जे इन से मुलाकात करेंगे। वह शनिवार को वापस वांशिगटन के लिए रवाना हो जायेगे।

    उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अगर उत्तर कोरिया के चेयरमैन की इच्छा होगी तो मैं उनसे सेना रहित क्षेत्र में मुलाकात करना चाहूंगा और यह सिर्फ हेलो और हाथ मिलने के किये होगी। शनिवार को डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि हम वहां होंगे क्योंकि मुझे नही पता कि अभी वह कहां है। शायद वह उत्तर कोरिया में नही है।

    उन्होंने कहा कि अगर वह वहां होंगे तो हम दो मिनट के लिए एक दूसरे को देखेंगे। बस यही होगा लेकिन हम ठीक है।अमेरिका के विशेष राजदूत स्टीफेन बिगुन ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिका उत्तर कोरिया के साथ रचनात्मक बातचीत के लिए तैयार है ताकि दोनों देश बीते वर्ष के निरस्त्रीकरण समझौते को मुकम्मल कर सके।

    स्टेफेन बिगुन ने अपने दक्षिण कोरिया के समकक्षी ली डो हून से कहा कि वांशिगटन बीते वर्ष सिंगापुर में डोनाल्ड ट्रम्प और किम जोंग उनके बीच सम्मेलन में एक समानान्तर प्रगति पर समझौते पर पंहुचे थे। दोनों पक्ष परमाणु निरस्त्रीकरण की तरफ कार्य करने और नए सबंधों की स्थापना करने के लिए सहमत है।”

    फरवरी में वियतनाम में आयोजित दूसरे शिखर सम्मेलन के बाद दोनों देशों के बीच बातचीत की प्रक्रिया ठप पड़ी हुई है। दोनों पक्ष प्रतिबंधों से रियायत के मामले पर सहमत नहीं हो पाए थे। उत्तर चाहता कि अमेरिका परमाणु नितास्त्रीकरण के लिए सभी प्रतिबंधों को हटा दे लेकिन अमेरिका इस पर असहमत था।

    जी-20 बैठक के इतर  रूस के राष्ट्रपति ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति से कहा कि “किम ने उनसे अप्रैल में कहा कि सुरक्षा गारंटी महत्वपूर्ण है और यह परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए महत्वपूर्ण है।”

    ट्रम्प ने जी-20 सम्मेलन पर जाने से पहले कहा था कि उनकी किम से मुलाकात की सम्भावना नहीं है। अमेरिका के राज्य सचिव माइक पोम्पिओ ने कहा कि हाल ही ट्रम्प और किम के बीच खतो का आदान-प्रदान से बातचीत के शुरू करने की उम्मीद है।

    अमेरिका के अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि “ट्रम्प के इस यात्रा के दौरान किम से मुलाकात की योजना नहीं थी। ट्रम्प साल 2017 में सेना रहित क्षेत्र में यात्रा करना चाहते थे लेकिन दक्षिण कोरिया में भारी धुंध के कारण ऐसा संभव नहीं हो सका।

    सेण्टर फॉर नेशनल इंटरेस्ट के हैरी जे काज़िआनीस ने कहा कि “राष्ट्रपति ट्रम्प ने ट्वीटर पर दोनों नेताओं के बीच एक छोटी मुलाकात की बात की थी और व्हाइट हाउस के अधिकारीयों ने कोशिश भी की थी लेकिन दक्षिण कोरिया या कूटनीतिक चैनेलो के जरिये मुलाकात कराने में नाकाम हुए है।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *