Sat. Apr 13th, 2024
    डोनाल्ड ट्रम्प

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने गुरूवार को अमेरिकी-मेक्सिको बॉर्डर को बंद करने की धमकी दी है। उन्होंने ट्वीट कर दावा किया कि “अमेरिका के दक्षिणी बॉर्डर से अवैध प्रवासी देश में प्रवेश करते हैं। हम शायद सीमा बंद कर सकते हैं हमारे देश में अवैध आप्रवासियों की घुसपैठ को रोकने के लिए मेक्सिको कुछ नहीं कर रहा है। वह सब बात कर रहे हैं और कार्रवाई नहीं।”

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1111355230573211650

    उन्होंने कहा कि “होंडुरस, गुएतमाला और एल साल्वाडोर ने सालो तक हमसे पैसा ठगा और कुछ भी नहीं किया। उनको कोई परवाह नहीं है, बेहद बुरे कानून है।”

    मेक्सिको के राष्ट्रपति एन्ड्रेस मानुएल लोपेज़ ओबराडोर ने डोनाल्ड ट्रम्प की आलोचना को ख़ारिज किया और कहा कि “हम इस मसले पर कार्य कर रहे हैं। हम हर तरीके से मदद करने की कोशिश कर रहे हैं। हम अमेरिका के साथ को विवाद नहीं चाहते हैं। लेकिन इस मसले का समाधान प्रवासन के कारणों की गहराई में हैं।”

    दा हिल के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प ने गुरूवार को मिशिगन की रैली के अभियान में अवैध अप्रवासन का मुद्दा उठाया था। बुधवार को उन्होंने कहा था कि “प्रवासियों को मुल्क में प्रवेश करने के रोकने के लिए अतिरिक्त दीवारों की जरुरत है।  दुसरे देश गोलीबारी के तैयार होकर सीमा पर मशीन गन लेकर खड़े हैं, लेकिन हम ऐसा नहीं कर सकते हैं। हम मीलो लम्बी दीवार का निर्माण करेंगे।”

    अमेरिकी बॉर्डर  प्रोटेक्शन एजेंसी के कमिश्नर केविन मकालीनां ने कहा कि “दक्षिणी पश्चिमी सीमान्त अभूतपूर्व मानवीय और सीमा सुरक्षा संकट से जूझ रहा है। टेक्सास के नजदीक एल पासो में एजेंटो ने बड़ी संख्या में अवैध रूप से प्रवेश करने वालो को हिरासत में लिया है। एजेंसी ने इस हफ्ते में 12000 आप्रवासियों को हिरासत में लिया है।”

    अप्रवासी मेक्सिको के आलावा मध्य अमेरिकी देशों से अधिक संख्या में आते हैं, कभी तो वह विशाल संख्या में कारवां बनकर आते हैं। डोनाल्ड ट्रम्प ने बीते दिसंबर में मेक्सिको सीमा को बंद करने की धमकी दी थी जब उनकी दीवार के निर्माण के लिए रकम की मांग सबसे ऊपर थी। कांग्रेस में डेमोक्रेट्स ने डोनाल्ड ट्रम्प के प्रस्ताव को नामंज़ूर कर दिया और इसके प्रतिकार में डोनाल्ड ट्रम्प ने पांच हफ़्तों तक सरकारी कामकाज को ठप कर दिया था।

    मेक्सिको को दी चेतावनी

    कल रात डोनाल्ड ट्रम्प नें फिर से एक के बाद एक तीन ट्वीट कर मेक्सिको सरकार को अप्रवासियों को ना रोक पाने पर धमकी दी।

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1111650176345800705

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1111653530316746752

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1111655194658508800

    डोनाल्ड ट्रम्प नें अपने ट्वीट में लिखा कि उनसे पहले की बराक ओबामा सरकार नें आप्रवासन के काफी कमजोर नियम बनाए थे, जिनका फायदा मेक्सिको उठा रहा है। ट्रम्प नें लिखा कि मेक्सिको हर साल अमेरिका से सैकड़ों अरब डॉलर लेता है और उसके बदले में कुछ भी नहीं करता है।

    डोनाल्ड ट्रम्प नें कहा कि वे मेक्सिको को अंतिम चेतावनी दे रहे हैं और यदि मेक्सिको की सरकार नें अवैध आप्रवासन नहीं रोका, तो वे मेक्सिको बॉर्डर को पूरी तरह से बंद कर देंगे।

    डोनाल्ड ट्रम्प नें यह भी कहा कि मेक्सिको के बॉर्डर के जरिये अमेरिका में ड्रग्स और तस्करी का व्यापार होता है, जिससे अमेरिका को अरबों डॉलर का घाटा होता है।

    मेक्सिको ने दिया जवाब

    Mexican President Andres Manuel Lopez Obrador
    मेक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रेस मनुएल लोपेज़ ओब्रादोर

    मेक्सिको के राष्ट्रपति नें डोनाल्ड ट्रम्प की धमकी का जवाब देते हुए कहा है कि अमेरिका में जाने वाले अवैध आप्रवासियों को रोकना उनके नियंत्रण में नहीं है।

    रायटर्स के मुताबिक मेक्सिको के राष्ट्रपति अन्द्रेस मनुएल ओब्रादोर नें कहा कि अवैध अप्रवासियों को रोकने की जिम्मेदारी अमेरिका की है और इसके जिम्मेदार मध्य अमेरिकी देश हैं।

    मेक्सिको के राष्ट्रपति नें आगे कहा कि उनका देश पूरी कोशिश करेगा की अमेरिका में अवैध लोग प्रवेश ना करें लेकिन डोनाल्ड ट्रम्प को समझना चाहिए कि अमेरिका में जाने वाले अवैध अप्रवासियों का मुख्य कारण अब मेक्सिको नहीं है।

    राष्ट्रपति लोपेज़ ओब्रादोर से प्रेस कांफ्रेंस में यह सवाल पूछा गया था और उन्होनें बार-बार यही कहा कि उनकी सरकार इस मसले को हल करने की कोशिश कर रही है।

    राष्ट्रपति लोपेज़ नें बताया,

    हम डोनाल्ड ट्रम्प की स्थिति का सम्मान करते हैं, और हम उनकी मदद करेंगे। लेकिन उन्हें यह समझना चाहिए, कि यह अमेरिका की समस्या है और मध्य अमेरिकी देश इसके जिम्मेदार हैं। मेक्सिको की भूमिका इसमें अहम् नहीं है।

    उन्होनें कहा कि मेक्सिको से अमेरिका जाने वाले अवैध लोगों की संख्या बहुत कम है। उन्होनें कहा कि आज के जमाने में मेक्सिको के लोग अमेरिका में काम नहीं करना चाहते हैं।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *