Thu. Jun 13th, 2024
    डोनाल्ड ट्रम्प

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प प्रवासियों का अमेरिका में रहने के लिए सख्त नियम लागू कर रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने अमेरिका में प्रवेश के लिए व्यक्ति में योग्यता को स्पष्ट किया है। उन्होंने कहा बॉर्डर से अवैध घुसपैठ से अमेरिका में प्रवेश न करे।

    डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा मैं सीमा को लेकर बेहद सख्त हूँ बल्कि हम सभी हैं। लोगों को हमारे देश मे वैध तरीके से प्रवेश करना चाहिए न कि अवैध। मैं चाहता हूं कि वे योग्यता के आधार पर अमेरिका आये।

    अवैध घुसपैठ के बाबत अमेरीकी राष्ट्रपति ने बताया कि वह चाहते हैं लोग योग्यता के आधार पर अमेरिका आये। जो भारत जैसे देशों के तकनीकी विशेषज्ञ हो।

    डोनाल्ड ट्रम्प ने बताया कि अमेरिका में कार की कंपनियों का विस्तार हो रहा है वह चाहते हैं योग्य कर्मचारी अमेरिका आये ताकि वे अमेरिका की मदद कर सके। यह अमेरिका के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने बताया कि आप्रवासन उनके लिए कोई समस्या नहीं है। वे चाहते हैं कांग्रेस और प्रशासन बगैर चुनाव के भी सही दिशा में कार्य करे।

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने चैन माइग्रेशन पालिसी की आलोचना करते हुए कहा कि यह बेहद बेकार नीति है। काफी लोग मुझसे सहमत हैं बल्कि इस देश के अधिकतर लोग मुझसे सहमत है। वे नहीं चाहते कि अपराधी हमारे राष्ट्र में पनाह ले। यह हमारे राष्ट्र के लिए फलदायीं नहीं होगा इसलिए हमारी नीति बेहद सख्त है।

    राष्ट्रपति ने अपनी तारीफों के कसीदे पढ़ते हुए कहा कि मेरे राष्ट्रपति बनने के बाद देश ने बहुत तरक्की की है। बगैर हिट के कोई भी बेहतर कर सकता है लेकिन हमने हितों के लिए अच्छा किया है।

    अर्थव्यवस्था के लिहाज से हमारा देश सबसे बड़ा है। हमारे देश की चीन और अन्य देशों से तुलना करके देखिए तब समझ आएगा। अमेरिका विश्व की सब तेज़ बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था हैं इसलिए लोग रोजगार की तलाश में अमेरिका आ रहे हैं। अमेरिका की सीमा सुरक्षा पुलिस बेहतरीन कार्य कर रही है।

    अमेरिका ने आप्रवासियों के लिए एच-1 और एच-4 नियमों को बेहद सख्त कर दिया है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *