शुक्रवार, दिसम्बर 6, 2019

डोकलाम में चीनी सड़क निर्माण कार्य संपन्न होने को तैयार, फिर से बढ़ सकता है तनाव

Must Read

बंगाल दुष्कर्म-हत्या पीड़िता के परिजनों ने तेलंगाना पुलिस की प्रशंसा की

हैदराबाद की एक पशु चिकित्सक युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के चार आरोपियों के...

हैदराबाद टी-20 : भारत ने वेस्टइंडीज को बल्लेबाजी के लिए बुलाया

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने यहां राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में शुक्रवार को खेले जा रहे पहले...

देश में 2025 तक 6.99 करोड़ हो जाएंगे मधुमेह रोगी : केंद्र सरकार

केंद्र सरकार का मानना है कि देश में मधुमेह इतनी तेजी से फैल रहा है कि आने वाले पांच...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

चीन की पीपल लिब्रेशन आर्मी ने डोकलाम में आल वेदर सड़क का निर्माण कार्य पूरा करने की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। यह चीन के हाइवे नेटवर्क को जोड़ेगा। खुफिया जानकारी से मिली सूचना के मुताबिक लगभग 12 किलोमीटर लंबे मेरुग ला- डोकलाम नामक सड़क निर्माण का कार्य लगभग पूर्ण होने वाला है।

खबरों के मुताबिक पिछले सितंबर से इस परियोजना का कार्य जारी है और यह सड़क निर्माण का आखिरी चरण है। आगामी दिनों में चीन अधिक से अधिक सैनिकों की तैनाती इस इलाके मे कर सकता है। गत वर्ष भारत और चीनी सेना के मध्य डोकलाम में 73 दिनों तक संघर्ष जारी था।

सूत्रों के अनुसार चीन ने यातुंग से जेलेप ला के मध्य सड़क निर्माण कर कार्य पूर्ण कर दिया है। डोकलाम गतिरोध के खत्म होने के बाद चीनी सेना ने सड़क निर्माण का कार्य और तीव्रता से शुरू कर दिया था।

हाल में भारत के सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि भारत की सेना भी चीन से सटे इलाकों में सड़क निर्माण कर रही है। उन्होंने कहा था कि कुछ वर्षों पहले तक हम किसी कारण सड़क निर्माण की योजना पर अमल नही कर पा रहे थे लेकिन अब हम भी सड़क निर्माण को महत्वता दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अब हम इस कार्य पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहे हैं और हमने चीनी सरना के साथ बातचीत के स्तर को भी बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि डोकलाम विवाद के बाद हमारे संबंध सकारात्मक दिशा की तरफ बढ़े हैं और हमने संयुक्त सैन्याभ्यास भी किया है।

खबरों के अनुसार सींचेल ला में चीनी सेना ने 4.9 किलोमीटर की सड़क का निर्माण किया है। डोकलाम एक विवादित भूभाग है जिस पर चीन और भूटान दोनो अपना अधिकार मानते हैं और भारत इसमें भूटान का समर्थन करता है। यह इलाका भारत को उत्तर पूर्व से जोड़ने वाले चिकन नेक यानी संकरी गली के बेहद नज़दीक है और सामरिक दृष्टि से भारत के लिए महत्वपूर्ण है।

इस इलाके में जब चीनी सेना सड़क निर्माण कार्य कर रही थी, तब भारतीय सेना ने उन्हें रोक दिया था और यह गतिरोध 73 दिनों तक चला।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बंगाल दुष्कर्म-हत्या पीड़िता के परिजनों ने तेलंगाना पुलिस की प्रशंसा की

हैदराबाद की एक पशु चिकित्सक युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के चार आरोपियों के...

हैदराबाद टी-20 : भारत ने वेस्टइंडीज को बल्लेबाजी के लिए बुलाया

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने यहां राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में शुक्रवार को खेले जा रहे पहले टी-20 मैच में टॉस जीतकर...

देश में 2025 तक 6.99 करोड़ हो जाएंगे मधुमेह रोगी : केंद्र सरकार

केंद्र सरकार का मानना है कि देश में मधुमेह इतनी तेजी से फैल रहा है कि आने वाले पांच वर्षो में मुधमेह रोगियों की...

हितों के टकराव के कारण पूर्व क्रिकेटरों को बोर्ड में लाना मुश्किल : सौरभ गांगुली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री और उनके बीच विवादों की खबरों को सिरे से...

‘किसी भी बलोच को जबरन पाकिस्तानी नहीं बनाया जा सकता’: बलूचिस्तान नेशनल पार्टी (मेंगल)

पाकिस्तान में सत्तारूढ़ इमरान सरकार को नेशनल एसेंबली में अपनी सहयोगी बलोच पार्टी, बलोचिस्तान नेशनल पार्टी-मेंगल के तीखे तेवरों का सामना करना पड़ा। पार्टी...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -