डोकलाम में चीनी सड़क निर्माण कार्य संपन्न होने को तैयार, फिर से बढ़ सकता है तनाव

bitcoin trading

चीन की पीपल लिब्रेशन आर्मी ने डोकलाम में आल वेदर सड़क का निर्माण कार्य पूरा करने की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। यह चीन के हाइवे नेटवर्क को जोड़ेगा। खुफिया जानकारी से मिली सूचना के मुताबिक लगभग 12 किलोमीटर लंबे मेरुग ला- डोकलाम नामक सड़क निर्माण का कार्य लगभग पूर्ण होने वाला है।

खबरों के मुताबिक पिछले सितंबर से इस परियोजना का कार्य जारी है और यह सड़क निर्माण का आखिरी चरण है। आगामी दिनों में चीन अधिक से अधिक सैनिकों की तैनाती इस इलाके मे कर सकता है। गत वर्ष भारत और चीनी सेना के मध्य डोकलाम में 73 दिनों तक संघर्ष जारी था।

सूत्रों के अनुसार चीन ने यातुंग से जेलेप ला के मध्य सड़क निर्माण कर कार्य पूर्ण कर दिया है। डोकलाम गतिरोध के खत्म होने के बाद चीनी सेना ने सड़क निर्माण का कार्य और तीव्रता से शुरू कर दिया था।

हाल में भारत के सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि भारत की सेना भी चीन से सटे इलाकों में सड़क निर्माण कर रही है। उन्होंने कहा था कि कुछ वर्षों पहले तक हम किसी कारण सड़क निर्माण की योजना पर अमल नही कर पा रहे थे लेकिन अब हम भी सड़क निर्माण को महत्वता दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अब हम इस कार्य पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहे हैं और हमने चीनी सरना के साथ बातचीत के स्तर को भी बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि डोकलाम विवाद के बाद हमारे संबंध सकारात्मक दिशा की तरफ बढ़े हैं और हमने संयुक्त सैन्याभ्यास भी किया है।

खबरों के अनुसार सींचेल ला में चीनी सेना ने 4.9 किलोमीटर की सड़क का निर्माण किया है। डोकलाम एक विवादित भूभाग है जिस पर चीन और भूटान दोनो अपना अधिकार मानते हैं और भारत इसमें भूटान का समर्थन करता है। यह इलाका भारत को उत्तर पूर्व से जोड़ने वाले चिकन नेक यानी संकरी गली के बेहद नज़दीक है और सामरिक दृष्टि से भारत के लिए महत्वपूर्ण है।

इस इलाके में जब चीनी सेना सड़क निर्माण कार्य कर रही थी, तब भारतीय सेना ने उन्हें रोक दिया था और यह गतिरोध 73 दिनों तक चला।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here