Sun. Jul 21st, 2024
    युसूफ पठान

    बॉल टेम्परिंग विवाद को पीछे छोड़ते हुए डेविड वार्नर एक बार फिर प्रशंसको को अपना क्लास दिखाने के लिए तैयार है, उनके सनराइजर्स हैदराबाद के साथी युसूफ पठान ने शनिवार को कही कहा डेविड वार्नर के बारे में बात करते हुए कहा।

    ऑस्ट्रेलियाई ओपनर जिन्हें पिछले साल बॉल टेम्परिंग विवाद के के कारण बीसीसीआई ने आईपीएल खेलने की अनुमति नही दी थी वह इस साल दोबारा अपनी ऑरेंज आर्मी टीम के साथ जुड़ गए है।

    पठान ने संवाददाताओ से कहा, ” वह एक लंबे समय बाद वापसी कर रहे है और कई लोगो उन्हे दोबारा खेलते देखना चाहते है। चाहे आप एसआरएच के फैन हो या नही लेकिन हर किसी को उनके बल्लेबाजी करने का अंदाज पसंद है। वह मैदान पर बहुत मनोरंजन करने वाले है।”

    वार्नर हमेशा से एसआरएच की टीम के लिए एक मुख्य हिस्सा रहे है। उन्होने 2016 में अपने बल्ले से 848 रन बनाते हुए अपनी टीम को खिताब दर्ज करवाया था।

    साल 2017 में भी वह सबसे ज्यादा स्कोर करने वाले बल्लेबाज थे और उन्होने 641 रन बनाए थे। जिसमें कोलकाता नाईट राइडर्स के खिलाफ 59 गेंदो में 126 रन की पारी भी शामिल थी। अब सनराइजर्स की टीम को अपने अभियान की शुरूआत रविवार को कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ करनी है।

    युसूफ पठान ने आगे कहा साल 2018 में वार्नर टीम में नही थे लेकिन वह हमेशा स्परिट में हमारे साथ रहे है। वार्नर की अनुपस्थिति में केन विलियमसन टीम के कप्तान थे और वह टीम को फाइनल तक लेकर गए।

    ” हार हो या जीत वह हमारे साथ हमेशा संपर्क में रहे है और हमेशा हमारा प्रोत्साहन किया है। उन्होने हमेशा उस खिलाड़ी की प्रशंसा की है जिन्हे अच्छा प्रदर्शन किया है और हमेशा खिलाड़ियो का समर्थन किया है। वह एक साल बाद टीम से वापसी कर रहे है लेकिन ऐसा बिलकुल नही लगा कि वह कभी टीम से बाहर भी हुए थे। वह हमारे जुनून में भी हमेशा हमारे साथ रहे है।”

    वार्नर को इस सीजन में अपने ओपनिंग जोड़ीदार शिखर धवन की कमी खलेगी क्योकि वह इस बार दिल्ली कैपिटल्स की टीम से खेलते नजर आएंगे।

    युसुफ पठान जो पिछले साल केकेआर से सनराइजर्स हैदराबाद की टीम में आए है का कहना है कि वह इस समय स्पिन दिग्गज मुथैया मुरलीधरन के साथ काम कर रहे है।

    ” वह मुझे सिखा रहे है कि गेंदबाजी करते वक्त पैरो को नीचे कैसे रखना है। गेंद डालते वक्त दाए-पैर को कैसे रखना है। मेरे हाथ कहा होने चाहिए और मुझे कहा देखना चाहिए। मेरा गेंदबाजी कलाई की स्पीड कितनी होनी चाहिए और वह कैसे कम होनी चाहिए।”

    इस अनुभवी खिलाड़ी ने आईपीएल के पहले संस्करण में राजस्थान रॉयल्स की टीम की तरफ से खिताब जीता था और उसके बाद 2012 और 2014 से कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम से भी।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *