टीम इंडिया के विश्व कप के अवसरों के बारे में पूछने पर सुनील गावस्कर ने एक विचित्र प्रतिक्रिया दी

सुनील गावस्कर- विराट कोहली

विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम इंडिया हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घर में 3-2 से वनडे सीरीज हारी है। पांच वनडे मैचो की सीरीज में 2-0 से आगे होने के बाद, भारतीय टीम आखिरी तीन मैच में सामान्य गति नही दिखा पाई जिसके कारण टीम को विश्वकप से पहले आखिरी एकदिवसीय श्रृंख्ला में हार का सामना करना पड़ा। हालांकि, कोहली और उनकी टीम को अभी भी कई क्रिकेट विशेषज्ञ द्वारा विश्वकप के खिताब के लिए पसंदीदा माना जा रहा है।

पूर्व भारतीय कप्तान, सुनील गावस्कर से हाल ही में भारतीय टीम के विश्वकप खिताब जीतने के मौको के बारे में पूछा गया था। उन्होंने अपने तीसरे खिताब (समग्र) को उठाने के लिए राष्ट्रीय पक्ष की आशा की, तो उन्होंने भारत की किस्मत की भविष्यवाणी करने से कतराते हुए इस संबंध में एक विचित्र जवाब दिया। 69 वर्षीय ने पीटीआई को बताया, “मुझे इस सवाल का जवाब देने में बहुत खुशी होगी, (लेकिन) दुर्भाग्य से मैं विराट कोहली की हथेली की जांच नहीं कर पाया … मैं इस सवाल का जवाब नहीं दे सकता (लेकिन) मैं उम्मीद उम्मीद करता हूं कि भारत विश्व कप जीते।”

2018 में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में 1-2 से मिली हार के बाद, कप्तान कोहली ने सीमित ओवर के खेल में लगातार सीरीज जीती थी। उन्होने पहले वेस्टइंडीज को घर में हराया तो वही उसके बाद ऑस्ट्रेलिया औऱ न्यूजीलैंड को उनकी ही सरजमी में मात दी।

हालांकि, वे एक दृढ़ और लचीले ऑस्ट्रेलियाई पक्ष से दंग रह गए, जो भारत से 0-2 से पीछे होने के बाद पांच वनडे मैचो की सीरीज 3-2 से जीत गए। इसके बाद कप्तान कोहली ने मीडिया को संबोधित किया और पुष्टि की कि ड्रेसिंग रूम में कोई घबराहट नहीं है और वे विश्व कप सेट से पहले आगामी आईपीएल 2019 में कदम रखेंगे।

कई लोगों ने भारत और इंग्लैंड को टूर्नामेंट के पसंदीदा के रूप में उद्धृत किया है, लेकिन गावस्कर ने भारत-ऑस्ट्रेलिया श्रृंखला निर्णायक से पहले ‘घरेलू लाभ’ के कारण इंग्लैंड को पसंदीदा माना है। ब्रिटिश उच्चायुक्त के निवास की यात्रा के दौरान, पूर्व दाएं हाथ के खिलाड़ी ने कहा था, “यदि आप पिछले दो या तीन विश्व कपों के इतिहास में जाते हैं, तो 2011 में मेजबान देश भारत ने खिताब जीता, 2015 में मेजबान राष्ट्र ऑस्ट्रेलिया ने और अब 2019 में इंग्लैंड के पास घर में खिताब पर कब्जा करने का सुनेहरा मौका है।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here