Fri. May 24th, 2024

    पश्चिम बंगाल में अब चुनाव खत्म हो चुके है। सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस की फिर से वापसी हुई है और ममता बनर्जी एक बार फिर से मुख्यमंत्री बन गई हैं। इस बीच चुनाव के समय टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुईं पूर्व विधायक सोनाली गुहा ने ममता बनर्जी को पत्र लिखकर कहा है कि मैं आपसे माफी चाहती हूं कि मैंने पार्टी छोड़ी। यदि आप मुझे माफ नहीं करेंगी तो मैं जिंदा नहीं रह पाऊंगी। कृपया पार्टी में वापस आने की इजाजत दें, ताकि मैं अपना बाकी का जीवन आपके स्नेह में बिता सकूं। सोनाली गुहा ने कहा कि मैं टूटे दिल से यह लिख रही हूं कि भावुक होकर मैंने दूसरी पार्टी में शामिल होने का गलत फैसला लिया।

    सोनाली चार बार विधायक रही हैं और कभी उन्हें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का करीबी माना जाता था, लेकिन उन्हें इस बार टीएमसी ने विधानसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया था जिसके चलते विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया था। गुहा ने कहा कि वह टीएमसी में फिर से शामिल होने के लिए सीएम ममता से मिलने को तैयार हैं और कहा कि “मैं व्यक्तिगत रूप से दीदी से मिलने की कोशिश करूंगी”।

    शनिवार को बंगाल की पूर्व डिप्टी स्पीकर सोनाली गुहा के बाद, तृणमूल के दो और नेताओं ने “घर वापसी” में रुचि व्यक्त की है।

    मालदा जिला परिषद सदस्य सरला मुर्मू ने कहा कि उन्हें अपनी “गलती” का एहसास है, जबकि उत्तर दिनाजपुर के पूर्व विधायक अमोल आचार्य ने हाल ही में सीबीआई द्वारा टीएमसी के दिग्गज नेताओं के उत्पीड़न को भाजपा छोड़ने का तत्काल कारण बताया। 

    विधानसभा चुनाव में सरला मुर्मू को हबीबपुर से टीएमसी उम्मीदवार बनाया गया था। लेकिन वह जिला परिषद सभापति गौर मंडल के साथ सुवेंदु अधिकारी के कहने पर भाजपा में शामिल हो गईं थी। तृणमूल कांग्रेस द्वारा जिले की 12 में से 8 सीटें जीतने के बाद, मुर्मू ने अपनी पुरानी पार्टी के साथ फिर से संपर्क करने की कोशिश की और कहा की “मेरे लिए भाजपा में शामिल होना एक गलती थी, अब ममता दीदी ने टीएमसी नेताओं से लौटने की अपील की है तो मैं वापस आना चाहती हूं।

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *