Sat. Dec 10th, 2022
    जी.एस.टी

    गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स ( जी.एस.टी.) को लागु करने के लिए सरकार ने पार्लियामेंट हाउस को 30 जून की आधी रात को बुलाया है। आधी रात को यह सेशन पार्लियामेंट हाउस के सेंट्रल हॉल में होगा। जैसे ही रात के 12 बजेंगे, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति जी.एस.टी को ऑफिशियली लांच करेंगे। इससे पहला ऐसा 15 अगस्त 1947 को हुआ था जब आधी रात को देश की आजादी के लिए पार्लियामेंट सेशन बुलाया गया था।

    आपको बता दें की 1 जुलाई से देश भर में जी.एस.टी लागू होने जा रहा है। ऐसा देश के इतिहास में पहली बार होगा जब किसी कानून को लागू करने के लिए आधी रात को सेशन बुलाया जाएगा। अरुण जैटली ने जानकारी देते हुए कहा ”30 जून देर रात से इसे ऑफिशियली लॉन्च किया जाएगा। लॉन्च का फंक्शन पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में होगा। इसमें सभी सांसद, सभी राज्य सरकारों के वित्त मंत्री और शुरू से लेकर अब तक एम्पावर्ड मीटिंग के मेंबर्स रहे लोगों को न्योता दिया है।’’

    अरुण जैटली

    फिलहाल देश में दो राज्यों को छोड़कर बाकी सभी राज्यों में जी.एस.टी लागू होने जा रहा है। केरल में आने वाले सप्ताह में जी.एस.टी लागू होगा एवं जम्मू और कश्मीर में इसपर प्रतिक्रिया चल रही है। जैटली के अनुसार जी.एस.टी में जितने भी फैसले हुए हैं, वे आम राय से हुए हैं। उनके अनुसार जी.एस.टी देश के टैक्स सिस्टम को पूरी तरह बदल देगा।

    आपको बता दें की जी.एस.टी बहुत से इनडायरेक्ट टैक्सों को बदलने के लिए लाया गया है। इसके लागू होने के बाद एक्साइज ड्यूटी, सर्विस टैक्स, एडिशनल कस्टम ड्यूटी, वैट/सेल्स टैक्स, सेंट्रल सेल्स टैक्स, एटरटेनमेंट टैक्स, लग्जरी जैसे टैक्स खत्म हो जाएंगे।

    आसान भाषा में बात करें तो जी.एस.टी आने से व्यापार करना बहुत आसान हो जाएगा। बहुत से टैक्सों से पीछा छूट जाएगा। अभी हर राज्य में अलग अलग टैक्स लगता है, जी.एस.टी आने के बाद टैक्स पुरे देश में बराबर हो जाएगा।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *