Wed. Oct 5th, 2022
    चार पहिया वाहनों

    देश में जी.एस.टी. के लागू होने से वाहनों के दामों पर भी गहरा असर पड़ा है। हाल ही में महाराष्ट्र की सरकार ने राज्य में दोपहिया और चार पहिया वाहनों के पंजीकरण पर दो-दो फीसदी टैक्स बढ़ा दिया है। इस कदम को राज्य मंत्रिमंडल से भी मंजूरी मिल गयी है।

    आपको बता दें की पहले महाराष्ट्र राज्य में दोपहिया वाहनों के पंजीकरण पर 8-10 फीसदी टैक्स लगता था। इसे अब बढाकर 10 से 12 फीसदी कर दिया गया है। पेट्रोल से चलने वाले वाहनों पर भी टैक्स 9-11 फीसदी से बढाकर 11-13 फीसदी कर दिया है। उसी प्रकार डीजल वाहनों पर टैक्स 11-13 फीसदी से बढाकर 13-15 फीसदी कर दिया है। इसके अलावा सी.एन.जी. से चलने वाले वाहनों पर भी टैक्स बढाकर 7-9 फीसदी कर दिया है।

    महारष्ट्र सरकार

    आपको बता दें जी.एस.टी. लागू होने से राज्यों में स्थानीय टैक्स ख़तम हो गया है जिसकी भरपाई करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने ऐसा कदम उठाया है। हालांकि सरकार ने महँगी आयात की हुई वाहनों की अधिकतम टैक्स 20 लाख रूपए निर्धारित किया है।

    इससे पहले राज्य में लोग वाहनों को आयात करके उनका दूसरे राज्यों में पंजीकरण करते थे। सरकार ने इसे रोकने के लिए ऐसा कदम उठाया है। अब कार चाहे कितनी भी महंगी हो, उसपर अधिकतम कार 20 लाख ही लगेगा।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.