गुरूवार, फ़रवरी 20, 2020

एयरटेल वोडाफोन को और पीछे छोड़ने के लिए जिओ जल्द लाएगा 5G इंटरनेट

Must Read

डोनाल्ड ट्रम्प की अहमदाबाद की 3 घंटे की यात्रा के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च करेगी गुजरात सरकार: रिपोर्ट

समाचार एजेंसी रायटर ने बुधवार को सूचना दी कि अहमदाबाद में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की...

डोनाल्ड ट्रम्प के दौरे की तैयारियां भारतियों की ‘गुलाम मानसिकता’ को दर्शाता है: शिवसेना

शिवसेना (Shivsena) ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की बहुप्रतीक्षित यात्रा की चल रही...

“अरविंद केजरीवाल को कभी आतंकवादी नहीं कहा”: प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया कि उन्होंने कभी दिल्ली के...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

सूत्रों के अनुसार रिलायंस जिओ वर्ष 2020 की दूसरी छमाही तक भारत में 5G इन्टरनेट लांच अकरने की योजना बना रहा है। यह ऐसा एयरटेल और वोडाफोन की हर योजना विफल करने के लिए कर रहा है। बता दें हाल ही में वोडाफोन और एयरटेल ने वित्त जमा किया है और कुछ बड़ा करने की योजना बनाई है, इस योजना से अपने अप को प्रभावित होने से बचाने के लिए जिओ ने 5G इन्टरनेट जल्द लांच करने की योजना बनाई है।

केवल रिलायंस जिओ खरीदेगा 5G स्पेक्ट्रम :

इकनोमिक टाइम्स के मुताबिक एसबीआई कैपिटल सिक्योरिटीज में रिसर्च के सह-प्रमुख राजीव शर्मा को उम्मीद है कि जनवरी 2020 तक 5 जी स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी।

उन्होंने बताया की 5G को खरीदने के लिए हाल ही में केवल रिलायंस जिओ ही आतुर है। यह सबसे पहले इस स्पेक्ट्रम को सरकार द्वारा पेशकश किये गए मूल्यों पर खरीदना चाहता है। वहीँ दुसरे प्रदाता अभी अपने ग्राहकों के लिए 4G इन्टरनेट सुविधाएं सुधारने में व्यस्त हैं, और इसी कारण वे सरकार को ऑक्शन की नीलामी की तारीख आगे बढाने की मांग कर रहे हैं।

उन्होंने यह भी बताया की एयरटेल और वोडाफोन इतने बड़े निवेश से यदि पूरा 4G मार्किट में निवेश करते हैं तो वे टैरिफ के मामले मिएँ जिओ से प्रतिस्पर्ध कर पायेंगे और कुल लगभग 425 मिलियन सब्सक्राइबर्स का स्वामित्व पा लेंगे और इस कारण 4G बाज़ार में जिओ की तेज वृद्धि रुक जायेगी।

जिओ को मिलेंगे ये फायदे :

राजीव शर्मा ने बताया की यदि जिओ दुसरे प्रदाताओं से पहले इस स्पेक्ट्रम की खरीदारी करता है तो अवश्य ही उसे बाज़ार का अहम् हिस्सा अपने नियंत्रण में मिल जाएगा।

इसके साथ ही उन्होंने बताया की एयरटेल और वोडाफोन ने जिओ से 4G इन्टरनेट के मामले में प्रतिस्पर्धा में बढ़ने के लिए लगभग 50000 करोड़ की पूँजी का निवेश पाया है जिससे वे अपनी 4G सुविधाओं के सुधार में लगायेगें। यदि ऐसा होता है और जिओ कोई अहम कदम जैसे 5G इन्टरनेट खरीदना नहीं उठाता है तो यह बाज़ार में और ज्यादा ग्राहक नहीं बना पायेगा।

ब्रॉडबैंड बाज़ार में भी मिलेगी जिओ को बढ़त :

शर्मा के अनुसार यदि जिओ द्वारा यह खरीददारी की जाती है तो जिओ अपने ब्रॉडबैंड ग्राहकों को भी बढ़ा पायेगा और शायद ब्रॉडबैंड बाज़ार में यह शीर्ष ओहदा पा सकता है। ब्रॉडबैंड में अधिकतर यूजर तेज़ इन्टरनेट स्पीड की मांग करते हैं और यदि जिओ द्वारा उचित मूल्य पर सबसे तेज़ इन्टरनेट स्पीड प्रदान की जाती है तो वे अवश्य जिओ को चुनना उचित समझेंगे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

डोनाल्ड ट्रम्प की अहमदाबाद की 3 घंटे की यात्रा के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च करेगी गुजरात सरकार: रिपोर्ट

समाचार एजेंसी रायटर ने बुधवार को सूचना दी कि अहमदाबाद में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की...

डोनाल्ड ट्रम्प के दौरे की तैयारियां भारतियों की ‘गुलाम मानसिकता’ को दर्शाता है: शिवसेना

शिवसेना (Shivsena) ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की बहुप्रतीक्षित यात्रा की चल रही तैयारी भारतीयों की "गुलाम मानसिकता"...

“अरविंद केजरीवाल को कभी आतंकवादी नहीं कहा”: प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया कि उन्होंने कभी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)...

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नें नागरिकता क़ानून के खिलाफ विरोध में लिया भाग

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने शुक्रवार को मांग की कि केंद्र देश में शांति और सद्भाव बनाए रखने के लिए संशोधित...

जम्मू कश्मीर मामले में भारत का तुर्की को जवाब; ‘आंतरिक मामलों में दखल ना दें’

भारत ने शुक्रवार को अपनी पाकिस्तान यात्रा के दौरान जम्मू और कश्मीर पर तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन की टिप्पणियों का जवाब दिया...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -