दा इंडियन वायर » दूरसंचार » एयरटेल वोडाफोन को और पीछे छोड़ने के लिए जिओ जल्द लाएगा 5G इंटरनेट
टैकनोलजी दूरसंचार व्यापार

एयरटेल वोडाफोन को और पीछे छोड़ने के लिए जिओ जल्द लाएगा 5G इंटरनेट

सूत्रों के अनुसार रिलायंस जिओ वर्ष 2020 की दूसरी छमाही तक भारत में 5G इन्टरनेट लांच अकरने की योजना बना रहा है। यह ऐसा एयरटेल और वोडाफोन की हर योजना विफल करने के लिए कर रहा है। बता दें हाल ही में वोडाफोन और एयरटेल ने वित्त जमा किया है और कुछ बड़ा करने की योजना बनाई है, इस योजना से अपने अप को प्रभावित होने से बचाने के लिए जिओ ने 5G इन्टरनेट जल्द लांच करने की योजना बनाई है।

केवल रिलायंस जिओ खरीदेगा 5G स्पेक्ट्रम :

इकनोमिक टाइम्स के मुताबिक एसबीआई कैपिटल सिक्योरिटीज में रिसर्च के सह-प्रमुख राजीव शर्मा को उम्मीद है कि जनवरी 2020 तक 5 जी स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी।

उन्होंने बताया की 5G को खरीदने के लिए हाल ही में केवल रिलायंस जिओ ही आतुर है। यह सबसे पहले इस स्पेक्ट्रम को सरकार द्वारा पेशकश किये गए मूल्यों पर खरीदना चाहता है। वहीँ दुसरे प्रदाता अभी अपने ग्राहकों के लिए 4G इन्टरनेट सुविधाएं सुधारने में व्यस्त हैं, और इसी कारण वे सरकार को ऑक्शन की नीलामी की तारीख आगे बढाने की मांग कर रहे हैं।

उन्होंने यह भी बताया की एयरटेल और वोडाफोन इतने बड़े निवेश से यदि पूरा 4G मार्किट में निवेश करते हैं तो वे टैरिफ के मामले मिएँ जिओ से प्रतिस्पर्ध कर पायेंगे और कुल लगभग 425 मिलियन सब्सक्राइबर्स का स्वामित्व पा लेंगे और इस कारण 4G बाज़ार में जिओ की तेज वृद्धि रुक जायेगी।

जिओ को मिलेंगे ये फायदे :

राजीव शर्मा ने बताया की यदि जिओ दुसरे प्रदाताओं से पहले इस स्पेक्ट्रम की खरीदारी करता है तो अवश्य ही उसे बाज़ार का अहम् हिस्सा अपने नियंत्रण में मिल जाएगा।

इसके साथ ही उन्होंने बताया की एयरटेल और वोडाफोन ने जिओ से 4G इन्टरनेट के मामले में प्रतिस्पर्धा में बढ़ने के लिए लगभग 50000 करोड़ की पूँजी का निवेश पाया है जिससे वे अपनी 4G सुविधाओं के सुधार में लगायेगें। यदि ऐसा होता है और जिओ कोई अहम कदम जैसे 5G इन्टरनेट खरीदना नहीं उठाता है तो यह बाज़ार में और ज्यादा ग्राहक नहीं बना पायेगा।

ब्रॉडबैंड बाज़ार में भी मिलेगी जिओ को बढ़त :

शर्मा के अनुसार यदि जिओ द्वारा यह खरीददारी की जाती है तो जिओ अपने ब्रॉडबैंड ग्राहकों को भी बढ़ा पायेगा और शायद ब्रॉडबैंड बाज़ार में यह शीर्ष ओहदा पा सकता है। ब्रॉडबैंड में अधिकतर यूजर तेज़ इन्टरनेट स्पीड की मांग करते हैं और यदि जिओ द्वारा उचित मूल्य पर सबसे तेज़ इन्टरनेट स्पीड प्रदान की जाती है तो वे अवश्य जिओ को चुनना उचित समझेंगे।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!