जावा में पैकेज क्या होते हैं?

packages in java in hindi


जावा प्रोग्रामिंग में पैकेज एक यंत्रणा या पद्धति हैं, जिसके जरिए क्लासेज, इंटरफ़ेस, सब-पैकेज इनके समूह को एनकैप्सूलेट किया जाता हैं।

एनकैप्सूलेशन का मतलब होता हैं, प्रोग्राम के सभी अंगो को एक विशिष्ट घटक में स्टोर किया जाए, जिससे प्रोग्राम को बाहरी हस्तक्षेप से दूर रखा जा सकें।

परिभाषा (Definition of Package in hindi)

Package can be defined as a grouping of related types

पैकेज सम्बंधित टाइप्स(क्लासेज, इंटरफ़ेस, इन्यूमरेशन इत्यादि) का समूह होता हैं।”

जावा में पैकेज का इस्तेमाल (Use of package in java)

  • क्लासेज के समान नाम होने के कारन उत्पन्न होने वाले एरर्स से बचने के लिए, पैकेज का इस्तेमाल किया जाता हैं। उदाहरण के तौर पर, समान नाम के दो क्लासेज, दो अलग अलग पैकेजेस् में हो सकते हैं। और पैकेज के नाम से उन क्लासेज को जब एक्सेस किया जाता हैं, तब नेमिंग कॉनफ्लिक्ट के कारन एरर निर्माण होने की गुंजाइश ख़त्म हो जाती हैं।
  • पैकेजेस्, एनकैप्सूलेशन या डाटा हाईडिंग की सुविधा उपलब्ध कराते हैं।
  • पैकेज की मदत से क्लासेज,, इंटरफेस, इन्यूमरेशन इत्यदि प्रोग्राम के घटकों को लोकेट करने और एक्सेस करने में आसानी होती हैं।

जावा में पैकेज को परिभाषित कैसे करें (How to define package in java)

पैकेज क्रिएट करने हेतु package इस कीवर्ड का इस्तेमाल करना जरुरी हैं। एक बार पैकेज डिफाइन किए जाने के बाद, आप उस पैकेज में कई क्लासेज, इंटरफ़ेस इत्यादि लिख सकते हैं।

पैकेज, उस में स्टोर किए गए अन्य घटकों के एक स्टोरेज कंटेनर की तरह काम करता हैं।

सिंटेक्स-

package <package_name>;

उदाहरण-

package tools;

public class Hammer

{

public void id()

{

System।out।println(“Hammer”);

}

}

जावा में पैकेज के प्रकार (Types of packages in java)

जावा में पैकेजेस् दो प्रकार हैं।

  • बिल्ट-इन पैकेजेस्
  • यूजर डिफाइन्ड पैकेजेस्

1. बिल्ट-इन पैकेजेस्

कुछ पैकेजेस् को सन माइक्रोसिस्टम्स(जावा को विकसित करने वाली कम्पनी) ने डिजाईन कर, जावा एपीआई( एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफ़ेस) के साथ सप्लाई किया है। क्योंकि, इन पैकेजेस् को इस्तेमाल करने से पहले इन्हें क्रिएट या डिफाइन करने की जरुरत नहीं होती, वे सिस्टम में पहले से ही मौजूद होते हैं, इसी कारन इन पैकेजेस् को बिल्ट इन पैकेजेस् कहा जाता हैं।

बिल्ट इन पैकेजेस् में भी 2 उप-प्रकार हैं:

स्टैंडअलोन एप्लीकेशन बेस्ड पैकेजेस्
पैकेजेस् उद्देश्य
1.java.lang यह लैंग्वेज सपोर्ट क्लासेज का पैकेजहैं। इस क्लास का इस्तेमाल जावा कम्पाइलर द्वारा किया जाता हैं। इस क्लास को आटोमेटिकली इम्पोर्ट किया जाता हैं।
2.java.util

 

इस पैकेज में यूटिलिटी क्लासेज हैं। जिनका इस्तेमाल डाटा स्ट्रक्चर्स को इम्प्लेमेंत करने हेतु किया जाता हैं। इस पैकेज का इस्तेमाल डेट/टाइम ऑपरेशन्स के लिए भी किया जाता हैं।
3.java.io इस पैकेज में इनपुट आउटपुट क्लासेज स्टोर कि गयी हैं। इन क्लासेस का इस्तेमाल कर यूजर इनपुट आउटपुट पर जरुरी ऑपरेशन्स कर सकता हैं।

 

वेब बेस्ड एप्लीकेशन बेस्ड पैकेजेस्
पैकेजेस् उद्देश्य
1.  java.applet इस पैकेज में एप्लेट को तयार और इमप्लेमेंट करने के लिए जरुरी क्लासेज को स्टोर किया गया हैं।
2. java.awt AWT का अर्थ होता है, एबस्ट्रक्ट विंडो टूलकिट। ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस को इम्प्लेमेंट करने के लिए इस पैकेज का इस्तेमाल किया जाता हैं।
3. java.net नेटवर्किंग से जुड़े सभी कार्यों के लिए इस पैकेज में लिखे क्लासेज का इस्तेमाल किया जाता हैं।

 

2. यूजर डिफाइंन्ड पैकेजेस्

जैसा की पैकेज के इस प्रकार के नाम से ही प्रतीत होता हैं, जिन पैकेज को यूजर किसी विशिष्ट उपयोग के लिए परिभाषित करता हैं, उसे यूजर डिफाइंड पैकेज कहा जाता हैं।

चलिए, यूजर डिफाइंड पैकेज को आसानी से समझने के लिए एक उदाहरण देखते हैं।

उदाहरण-

//creating pacakge

package myPack;

public class MyClass

{

public void getNames(String s)

{

System.out.println(s);

}

}

//importing package

import myPackage.MyClass;

public class PrintName

{

public static void main(String args[])

{

String name=”Example”;

//creating object of MyClass

MyClass obj=new MyClass();

obj.getname(name);

}

}

स्पष्टीकरण-

उपर दिए गए उदाहरण के पहले हिस्से में हमने एक पैकेज तयार किया हैं, जिसका नाम हैं myPack। और इस पैकेज में हमने, एक पब्लिक क्लास MyClass को भी डिफाइन किया हैं। क्लास MyClass में हमने एक फंक्शन लिया हैं, जिसको स्ट्रिंग टाइप का पैरामीटर पास किया गया हैं।

अब प्रोग्राम के दुसरे हिस्से में हमने, myPack इस पैकेज के MyClass इस क्लास को इम्पोर्ट किया हैं, क्योंकि जिस फंक्शन हम इस्तेमाल करने वाले हैं, वह फंक्शन क्लास MyClass में डिफाइन किया गया हैं।

यहाँ एक और पब्लिक क्लास लिया गया हैं, जिसका नाम PrintName हैं। अब इस क्लास के मेन फंक्शन में हमने एक स्ट्रिंग name ली हैं, और उसे “Example” यह वैल्यू भी पास की हैं।

इसी मेन फंक्शन में हमने क्लास MyClass का ऑब्जेक्ट क्रिएट किया हैं और उस ऑब्जेक्ट की मदत से MyClass में लिखे फंक्शन getNames() को स्ट्रिंग name को पास किया हैं।

अब, जब आप इस प्रोग्राम को रन करोगे, तब आपको आउटपुट के रूप में वही स्ट्रिंग “Example” मिलेगी, जिसे हमने पैरामीटर के रूप में पास किया था।

पैकेज को कम्पाइल कैसे करें (How to compile packages in java)

जावा में पैकेज, मुख्यतः यूजर डिफाइंड पैकेज को कम्पाइल कुछ अलग तरह से किया जाता हैं। पैकेज को कम्पाइल करने हेतु आपको कमांड प्रांप्ट पर टाइप करना होगा-

Javac -d .FiileName.java

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here