Tue. Feb 27th, 2024
    जापान में मोदी

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वार्षिक सम्मलेन में शरीक होने के लिए जापान की यात्रा पर गए हैं। जापान में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने उन्हें देश का सम्मान बनाये रखने के शुक्रिया कहा था।

    नरेन्द्र मोदी 13 वें वार्षिक सम्मलेन में शरीक होंगे। पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल के दौरान तकनीकी और आर्थिक वृद्धि के बाबत कहा कि भारत में आज परिवर्तन आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया भारत की मानवता के कार्य के लिए सराहना कर रही है।

    मोदी जापान

    पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया हमारे राष्ट्र को नीतियों के कारण सम्मानित कर रही है और साथ ही जनता के हित के लिए किये गए कार्यों के लिए भी भारत का सम्मान हो रहा है। नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज भारत ने डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर में बहुत उन्नति की है। इन्टरनेट गाँवों तक पंहुच रहा है और भारत में अभी 100 करोड़ मोबाइल फ़ोन चालू है।

    उन्होंने आगे कहा कि एक जीबी इन्टरनेट की कीमत एक कोल्डड्रिंक की कीमत से कम है। इन्टरनेट से सुविधाओं की डिलीवरी घर तक हो रही है। मेक इन इंडिया के बाबत बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत की यह पहल वैश्विक ब्रांड के रूप में उभर रही है। उन्होंने कहा कि भारत माल का उत्पादन न सिर्फ अपने लिए बल्कि समस्त विश्व के लिए कर रहा है।

    नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत इलेक्ट्रॉनिक और ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में वैश्विक हब बनता जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम दुनिया की नंबर वन मोबाइल फ़ोन उत्पादन का केंद्र बनने की ओर तेज़ी से बढ़ रहे हैं। उन्होंने साथ ही भारतीय समुदाय को भारत के पहले उपप्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्मदिवस 31 अक्टूबर की योजना के बाबत भी बताया था।

    सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्मदिन भारत में एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है। नरेन्द्र मोदी ने कहा कि यही वक्त है जब हम दुनिया को आकर्षित करेंगे। गुजरात में सरदार पटेल की प्रतिमा को उन्होंने दुनिया के सबसे ऊंची प्रतिमा बताया था। नरेन्द्र मोदी 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की प्रतिमा का अनावरण करेगे।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *