Sat. Apr 13th, 2024
    भूटान

    जम्मू कश्मीर पर भारत का फैसला बेहद निर्भीक, साहसिक और आगे की तरफ देखने वाला था। भारत की राजदूत रुचिरा कंबोज ने कहा कि भारत मे जम्मू कश्मीर के पुनर्गठन का भूटान बेहद समर्थन करता है। बल्कि उन्होंने इसे पूरी तरह भारत का आंतरिक मामला करार दिया है।

    उन्होंने कहा कि इस निर्णय को भूटान ने बेहद निर्भीक, साहसिक और आगे बढने वाला मामला बताया है जो जम्मू कश्मीर कर सामाजिक आर्थिक विकास को सुनिश्चित करेगा और केंद्रशासित प्रदेश में शांति, प्रगति और समृद्धता को लेकर आएगा।

    दोनो पड़ोसियो के बीच शिक्षा और अन्य क्षेत्रों से जुड़े दस एमओयू पर दस्तखत किए जाएंगे। पांच जगहों का उद्धघाटन भी इसमे शामिल है। मंगढ़ेंचु हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्लांट और इसरो द्वारा निर्मित थीम्प्यू में अर्थ स्टेशन का भी उद्धघाटन किया जाएगा।

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिनों की आधिकारिक यात्रा पर भूटान जाएंगे। आधिकारिक यात्रा के दौरान भारत और भूटान के बीच 10 एमओयू पर हस्ताक्षर होने की संभावना है। यात्रा जे दूसरे दिन पीएम मोदी नेशनल मेमोरियल चोरटेन का दौरा करेंगे। तशिछोडजोंग मर उनके लिए एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। रविवार को पीएम मोदी नई दिल्ली के लिए वापस रवाना हो जाएंगे।

    प्रधानमन्त्री मोदी ने अपने पहले कार्यकाल की पहली यात्रा में भूटान का दौरा किया था। यात्रा के दौरान भूटान के राजा के साथ पीएम मोदी सभा को संबोधित करेंगे और भूटानी पीएम के साथ वार्ता करेंगे।

    बयान के मुताबिक, भारत और भूटान विशेष और वक्ती साझेदारी को साझा करते हैं। संयुक्त समझ और संस्कृतिक विरासत और जनता से जनता का जुड़ाव का सम्मान करते हैं।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *