Wed. May 29th, 2024
    jagan mohan reddy news in hindi

    अमरावती, 25 मई (आईएएनएस)| विशाखापत्तनम हवाईअड्डे पर बीते वर्ष अक्टूबर में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी पर चाकू से हमला करने वाले एक युवक को शनिवार को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

    विजयवाड़ा में राष्ट्रीय जांच एजेंसी(एनआईए) की एक अदालत ने शुक्रवार को जे. श्रीनिवास राव ऊर्फ श्रीनिवास को जमानत दी थी, जिसके बाद आज(शनिवार को) उसे राजामुंदरी केंद्रीय कारागार से रिहा कर दिया गया।

    युवक ने अपनी रिहाई के बाद कहा कि उसने जानबूझकर जगन रेड्डी पर हमला नहीं किया था। उसने दावा किया कि उसने लोगों की समस्याओं पर चर्चा करने के लिए वाईएसआर सीपी के नेता से मुलाकात की थी और उसके पास मौजूद चाकू से वह गलती से घायल हो गए थे।

    यह दावा करते हुए कि वह जगन मोहन रेड्डी को पसंद करता है, श्रीनिवास ने कहा कि वह अपने को निर्दोष साबित करने के लिए नार्को एनालासिस टेस्ट करवाने के लिए तैयार है।

    उसने कहा कि जब उसके पास मौजूद लोगों ने घटना के बाद उसे पीटना शुरू कर दिया तो, जगन रेड्डी ने उसे बचाने का प्रयास किया।

    श्रीनिवास ने कहा कि वह खुश है कि जननमोहन आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं। उसके परिवार को आशा है कि सरकार उसके विरुद्ध मामले को वापस ले लेगी।

    घटना 25 अक्टूबर की है, जब हवाईअड्डे के कैंटीन में काम करने वाले श्रीनिवास ने जगन को चाकू से घायल कर दिया था। उनपर तब हमला किया गया, जब वह हैदराबाद जाने वाले एक विमान का इंतजार कर रहे थे।

    जगन को बाएं हाथ में चोट आई थी और उन्होंने अपनी यात्रा पूरी की। बाद में उन्हें हैदराबाद के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।

    वाईएसआरपीसीपी ने आरोप लगाया था कि सत्तारूढ़ तेलुगू देशम पार्टी(तेदेपा) ने उनके नेता को मारने के लिए यह साजिश रची, जबकि तेदेपा ने इसे सहानुभूति बटोरने का प्रयास बताया।

    जगन ने आंध्रप्रदेश पुलिस के समक्ष अपना बयान रिकार्ड कराने से इनकार कर दिया था और कहा था कि उनका राज्य सरकार नियंत्रित एजेंसियों पर कोई भरोसा नहीं है।

    बाद में केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश के बाद, एनआईए ने एक जनवरी को मामला दर्ज किया था और जांच शुरू की थी।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *