दा इंडियन वायर » मनोरंजन » छिछोरे बॉक्स ऑफिस प्रेडिक्शन डे 1: सुशांत सिंह राजपूत और श्रद्धा कपूर की फिल्म 6 करोड़ से होगी शुरु
मनोरंजन

छिछोरे बॉक्स ऑफिस प्रेडिक्शन डे 1: सुशांत सिंह राजपूत और श्रद्धा कपूर की फिल्म 6 करोड़ से होगी शुरु

छिछोरे टबॉक्स ऑफिस कलेक्शन

निर्देशक नितेश तिवारी की अगली फिल्म ‘छिछोरे’ सिनेमाघरों में आ चुकी है। सुशांत सिंह राजपूत और श्रद्धा कपूर की यह कैंपस ड्रामा अपनी घोषणा के बाद से ही काफी सुर्खियाँ बटोर रही थी। फिल्म की प्रमोशनल सामग्री पिछले महीने से ही रिलीज़ की जा रही थी जो दर्शकों को काफी पसंद आई है।

अब देखना यह है कि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कैसा परफॉर्म करेगी। फिल्म के बॉक्स ऑफिस प्रेडिक्शन की बात करें तो ट्रेड एनालिस्ट गिरीश जौहर का कहना है कि, ” निश्चित रूप से कांसेप्ट यूनिक है और यदि प्रमोशनल सामग्री की बात करें तो यह ‘थ्री इडियट्स’ का फील देती है जो फिल्म के लिए उत्साहित करने का बड़ा कारण है।

निजी तौर पर मुझे पहला ट्रेलर काफी औसत लगा है पर फिल्म के दो गाने और एक और ट्रेलर से निर्माताओं ने युवाओं को टारगेट किया है जो काफी पसंद भी किया गया है।

निर्माताओं ने 1200-1300 स्क्रीन की सीमित रिलीज का विकल्प चुना है। मुझे लगता है कि वे प्रतिक्रियाओं पर बैंकिंग कर रहे हैं, क्योंकि यह एक ऐसा कारक है जो ‘छिछोरे’ के व्यापार पर एक बड़ा प्रभाव डाल सकता है”

फिल्म के पहले दिन के कलेक्शन की भविष्यवाणी करते हुए उन्होंने कहा, “मैं उम्मीद कर रहा हूं कि फिल्म 6 करोड़ रुपये से 8 करोड़ रुपये के बीच कहीं भी शुरू होगी।”

मर्दानी के अभिनेता ताहिर राज भसीन का मानना है कि दंगल के निर्देशक नितेश तिवारी की आगामी फिल्म छिछोरे उनकी अब तक की फिल्मों में काफी मुश्किल थी।

फिल्म काय पो छे और वन बाई टू जैसी फिल्मों में स्पेशल एपीरियंस वाले रोल करने के बाद 2014 में मर्दानी में मिले खलनायक के किरदार से लोकप्रिय हुए। इसके बाद उन्होंने ‘फोर्स 2’ और मंटो के जरिए अपनी लोकप्रियता बनाए रखी। अब वह अपनी आगामी फिल्म छिछोरे को लेकर आशान्वित हैं।

ताहिर ने कहा, मेरे द्वारा की गई अब तक की फिल्मों में छिछोरे सबसे अधिक कठिन रही। सबसे पहले मुझे एक स्पोर्ट्स चैंपियन के किरदार में फिट होने के लिए और कॉलेज के खिलाड़ी की तरह दिखने के लिए अपने शरीर को तोड़ना पड़ा। खेल के साथ ही मुझे अलग-अलग खेल में प्रतिस्पर्धा करते हुए एक कॉलेज ड्रामा के भावनात्मक ग्राफ और हल्केपन को भी संतुलित कर के चलना था। दोनों को साथ लेकर चलने में मैं बहुत थक जाता था।

यह भी पढ़ें: ‘साहो’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन आज का दिन: पहला सप्ताह रहेगा बढ़िया

About the author

साक्षी सिंह

Writer, Theatre Artist and Bellydancer

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Advertisement