Fri. Jul 19th, 2024
    छाती में जमा कफ दूर करने के उपाय

    अपनी छाती में जमे कफ को बार बार खांस कर निकालना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। चिकित्सकों द्वारा दी जाने वाली चेतावनी के बाद भी लोग इस समस्या पर ध्यान नहीं देते हैं।

    यह आपकी श्वासन नली की दीवारों में जलन पैदा करता है। इनमें ही बलगम मौजूद होता है।

    इस जलन के कारण अत्यधिक बलगम का उत्पादन होने लगता है। यदि बलगम के रूप में आपका कफ बाहर आ जाता है तो यह आपके लिए फायदेमंद होता है।

    हालांकि, जब अतिरिक्त बलगम बाहर नहीं आता है तो यह आपकी छाती में घुटन पैदा कर देता है।

    विषय-सूचि

    छाती में कफ जमने के कारण

    • धूम्रपान
    • फ्लू, ब्रोंकाइटिस, ट्यूबरक्लोसिस और निमोनिया जैसी बीमारियाँ
    • एलर्जी
    • अस्थमा
    • गैस्ट्रोएस्फोज़ल एसिड रिफ्लक्स (जीईआरडी)

    छाती में कफ के लक्षण

    • खांसी के दौरान छाती में पीड़ा
    • घरघराहट
    • खांसी के दौरे
    • सरदर्द
    • सांस में कमी
    • बलगम
    • नींद की कमी से थकान
    • खांसी में खून का आना (ज्यादा होने पर)

    छाती में जमा कफ निकालने के उपाय

    अदरक

    इस चाय की गर्मी के कारण आपकी छाती में जमा कफ से आपको राहत की अनुभूति होगी। अदरक एक एंटीमाइक्रोबियल एजेंट की तरह काम करता है और कफ पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देता है।

    सामग्री:

    • 1 अदरक की गाँठ
    • 1 कप उबला पानी
    • 1 चम्मच शहद

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • अदरक को छोटे टुकड़ों में काट लें और 4-5 मिनट तक गर्म पानी में डाल दें।
    • इसे छान लें और उसमें शहद डालकर अच्छी तरह मिला लें।
    • इसे गर्म ही पी लें।

    दिन में 2-3 बार इसका सेवन करें।

    प्याज

    प्याज में ऐसे गुण होते हैं जिनके कारण यह आपको छाती में जमे कफ से तुरंत राहत देता है।

    सामग्री:

    • 1 छोटा प्याज
    • 1 चम्मच नीम्बू का रस
    • 1 चम्मच पानी
    • 1/2 चम्मच शहद

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • सब कुछ अच्छी तरह मिलाकर इसे थोडा गर्म कर लें। 
    • इस मिश्रण का सेवन कर लें। 

    दिन में 3 बार इसका सेवन करें। 

    अनानास का रस

    अपने एंटीइंफ्लेमेटरी और डीटोक्सिफ्यिंग गुणों के कारण अनानास का रस आपको कफ से राहत दिलाता है। 

    सामग्री:

    • 1 गिलास ताज़ा अनानास का रस

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • इसे अपने भोजन के साथ या उसके बाद लें। 

    दिन में 1-2 गिलास अनानास के रस का इसका सेवन करें। 

    कफ निकालने का घरेलु उपाय है भाप

    कफ से छुटकारा पाने का ये एक आसान और उपयोगी उपाय है। इससे आपको घबराहट और सरदर्द से भी राहत मिलती है।

    सामग्री:

    • 1 बर्तन में गर्म पानी
    • युकलिप्टुस के तेल की कुछ बूँदें(ऐच्छिक)
    • एक तौलिया

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • युकलिप्टुस के तेल को पानी में डाल लें।
    • इस बर्तन के ओर अपना सर झुकाएं और तौलिये से ढक लें। ध्यान रखें कि इसमें हवा न जाये।
    • 10 मिनट तक भाप लें। 

    कोशिश करें कि ये प्रक्रिया आप रात को सोने से पहले करें। इसके अलावा इसे दिन में 1-2 बार करें।

    ध्यान रखें

    इस प्रक्रिया को करने के बाद जब आप सोते हैं तो अपनी नाक और सर को ढक कर सोयें

    छाती का कफ निकाले हल्दी

    हल्दी में जीवाणुरोधी गुण होते हैं और एक उत्कृष्ट उपचार एजेंट है। काली मिर्च एक कष्टप्रद और एक डेंगेंस्टेंट के रूप में कार्य करता है।

    यह मिश्रण एक छोटी बोतल या जार में कहीं भी ले जाने के लिए बहुत सुविधाजनक है और दिन के दौरान बहुत मदद करता है।

    सामग्री:

    • 1/2 चम्मच पीसी हुई हल्दी
    • 1/2 चम्मच काली मिर्च का पाउडर
    • 1 बड़ा चम्मच शहद

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • सभी चीजों को मिलाकर पेस्ट बना लें और इसका सेवन करें।

    जब भी आपको असहज महसूस हो तो इसका प्रयोग करें।

    अजवाइन के फूल

    अजवाइन एक एंटीमाइक्रोबियल एजेंट होता है जो सर्दी खांसी के लक्षणों से निजात पाने में सहायक होता है।

    सामग्री:

    • 2 चम्मच सूखी हुई अजवाइन
    • 1 कप गर्म पानी

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • अजवाइन को गर्म पानी में कुछ देर के लिए डाल दें।
    • छान कर इस हर्बल चाय को पी लें।

    दिन में 2-3 बार इस चाय का सेवन करें।

    सेंधा नमक

    सेंधा नमक शरीर से सारे विषैले पदार्थ निकाल देता है और आपकी मांसपेशियों और जोड़ों को आराम देता है। इस गर्माहट बलगम बाहर निकालने में सहायक होती है।

    सामग्री:

    • 1-2 सेंधा नमक
    • गर्म पानी
    • बाथ टब

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • सेंधा नमक को नहाने के पानी में डाल लें।
    • इसमें 20 मिनट तक बैठें और फिर सादा पानी से नहा लें
    • यदि आपके पास बाथ टब नहीं है तो एक बाल्टी गर्म पानी में सेंधा नमक डाल लें और इससे नहा लें।

    यदि आपको एक बार में राहत न मिले तो अगले दिन इसे दोहराएं।

    सरसों

    सरसों रक्त के संचालन को उत्तेजित करता है और पसीना बढ़ा देता है, जिससे वायुमार्ग में घबराहट को दूर करने में राहत मिलती है।

    सामग्री:

    • 1/4 कप सरसों का चूर्ण
    • 1 कप आटा
    • 2 कपडे के टुकड़े
    • गर्म पानी
    • नारियल का तेल या ओलिव ओइल

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • सरसों का चूर्ण और आटा मिला लें और उसमें पानी डालकर पेस्ट बना लें।
    • छाती पर ओलिव ओइल या नारियल का तेल लगा लें।
    • एक कपडे का टुकड़ा गर्म पानी में डाल दें और इसे अपनी छाती पर रख लें।
    • इसके ऊपर अपने बनाये हुए पेस्ट को अच्छी तरह फैला लें।
    • दूसरे कपडे के टुकड़े को गर्म पानी में गीला करके इसके ऊपर रख लें।
    • इसे 15 मिनट तक ऐसे ही रहने दें।
    • इसे हटायें और साफ़ पानी से धो लें।

    इसे एक या दो दिन के बाद अपनी ज़रुरत के अनुसार दोहराएँ।

    ध्यान रखें

    यदि आपको किसी प्रकार की जलन या असहजता महसूस हो तो इसे तुरंत हटा दें।

    कफ निकालने में सहायक शहद

    शहद में एंटीमिक्रोबियल गुण होते हैं जो श्वास सम्बन्धी संक्रमण को दूर करता है। ये गले में खराश और खांसी की समस्या को भी दूर करता है।

    सामग्री:

    • 1 बड़ा चम्मच शहद
    • 1 बड़ा चम्मच नीम्बू का रस
    • 1 गिलास गर्म पानी

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • शहद और नीम्बू के रस को गर्म पानी में डालकर पी लें।

    जल्द राहत पाने के लिए एक गिलास सुबह और एक गिलास शाम को पीयें।

    मेथी की चाय

    मेथी के एंटीइंफ्लेमेटरी गुण श्वास नली में सूजन को दूर करते हैं। इसमें मौजूद एंटीमाइक्रोबियल कंपाउंड संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को हटा देते हैं।

    सामग्री:

    • 1 चम्मच मेथी के दाने
    • 1 कप पानी
    • 1 चम्मच शहद

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • मेथी के दानों को रातभर पानी में भिगोकर रख दें।
    • सुबह इसे छान कर गर्म कर लें।
    • इसमें शहद डालें और इस हर्बल चाय को पी लें।

    जब तक आपको राहत न मिल जाये तब तक इसके 1-2 कप लेते रहे।

    सेब का सिरका

    सिरका अत्यधिक बलगम पैदा करता है जिससे कुछ समय बाद ये गार्गल में बाहर निकल जाता है। (जानें: घर पर सिरका कैसे बनाएं)

    सामग्री:

    • 1 बड़ा चम्मच सेब का सिरका
    • 1 कप गर्म पानी

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • सिरके में पानी मिला लें और इससे गार्गल करें।

    अच्छे परिणाम के लिए इसे दिन में दो बार उपयोग में लायें।

    आवश्यक तेल

    आप चाहे कोई भी आवश्यक तेल इस्तेमाल करें, उन सभी में ऐसे गुण होते हैं जो छाती में जमे कफ से राहत दिलाते हैं। इन गुणों में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण और बलगम घटाने के गुण शामिल हैं।

    सामग्री:

    • 2-3 बूँद युकलिप्टुस का तेल या टी ट्री ओइल या पुदीने का तेल
    • 1 बड़ा चम्मच नारियल का तेल या अरंडी का तेल

    कैसे इस्तेमाल करें?

    • अपनी पसंद का आवश्यक तेल नारियल के तेल या अरंडी के तेल के साथ मिला लें।
    • इस मिश्रण को साइनस, छाती, गर्दन और पीठ पर लगायें।
    • कुछ घंटों तक इसे लगा रहने दें।

    इसे रोज़ सोने से पहले लगायें।

    सांस के व्यायाम

    अपनी खांसी को रोकने का प्रयास न करें। खांसने से छाती में जमा कफ निकल जाता है।

    गहरी और लम्बी सांसें लें ताकि आपकी गले की नली में फंसा हुआ बलगम बाहर निकल जाये।

    यदि आपको अत्यधिक घबराहट महसूस हो तो खांसने का प्रयास करें। यदि खांसने के दौरान थोडा भी खून निकलता है तो तुरंत अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

    इसके अलावा दिन में कई बार अपनी छाती पर हाथ फेरते रहे ताकि कफ जमे नहीं और आराम करते वक़्त अपना सर छाती के स्तर से नीचा रखें।

    3 thoughts on “छाती में जमा कफ कैसे निकाले? घरेलु उपाय”
    1. meri chhati mein bahut saara kf jamaa thaa lekin jab maine ajvaain ke fool use kiye to vah bilkul theek ho gayaa this really helps

    2. jab hamaare gale mein cough ho to hamen kon kon si cheezon se parhej karnaa chaahiye>?? kya hamen ghee se parhej karnaa chaahiye?

    3. Sir
      mere patni ko kuch dinon se subah aur shaam sar mein bharipan aur hlka chakkar kamjori lgti h

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *