Sat. Jan 28th, 2023
    नक्सल

    छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में पुलिस के साथ मुठभेड़ में दो नक्सली मारे गए।

    दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि जिले के कुवाकोंडा थाना क्षेत्र के धनिकरका और दुवालीकरका के जंगलों में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने दो नक्सलियों को मार गिराया।

    अधिकारियों ने बताया कि कुवाकोंडा थाना क्षेत्र में डीआरजी और जिला बल का संयुक्त दल गश्त के दौरान जब धनिकरका और दुवालीकरका के जंगलों में था, तभी नक्सलियों ने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की।

    कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से भाग गए। इसके बाद पुलिस दल ने घटनास्थल की तलाशी ली। घटनास्थल से मलांगिर एरिया कमेटी का सदस्य वर्गीस और एक अन्य नक्सली का शव मिला है। इसके अलावा घटनास्थल से एक भरमार बंदूक और एक 315 बोर बंदूक बरामद हुई है। मुठभेड़ में एक नक्सली के घायल हो गया।

    राज्य के नक्सल विरोधी अभियान के महानिदेशक गिरधारी नायक ने बताया कि मुठभेड़ में मारे गए नक्सली वर्गीस के सर पर पांच लाख रूपए का ईनाम था और वह बारूदी सुरंग लगाने में माहिर था।

    नायक ने बताया कि वर्गीस के नौ अप्रैल को कुवाकोंडा थाना क्षेत्र में बारूदी सुरंग विस्फोट की घटना में शामिल होने की सूचना है। इस घटना में दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी और चार अन्य पुलिस कर्मियों की मौत हो गई थी।

    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ में एक नक्सली घायल हुआ है। घायल नक्सली को प्राथमिक उपचार के बाद दंतेवाड़ा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

    दंतेवाड़ा जिला बस्तर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत है। यहां 11 अप्रैल को मतदान हुआ था। वहीं बृहस्पतिवार को राज्य के नक्सल प्रभावित कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद लोकसभा क्षेत्रों में मतदान जारी है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *