शुक्रवार, फ़रवरी 28, 2020

चेतेश्वर पुजारा: मैं अभी भी अपने क्रिकेट करियर के चरम पर नहीं

Must Read

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

भारतीय क्रिकेट टेस्ट टीम के स्तंभ कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा अब तक क्रिकेट में कई उपलब्धियां हासिल कर चुके है। ऑस्ट्रेलिया में पिछले साल टेस्ट सीरीज जीतवाने के बाद उन्होने सौराष्ट्र की टीम को रणजी ट्रॉफी के फाइनल तक पहुंचाया जिसमें उनका योगदान अमूल्य रहा। अब पुजारा ने टीएनसीए फर्स्ट डीविजन लीग में अपना पदार्पण किया है। जिसके बाद अब पुजारा ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से कई मुद्दो पर बात की है।

कुछ अंश:
ऑस्ट्रेलिया में ढेर सारे रन और आज के खेल पर अपने विचार दे?

मैंने इस सीजन शानदार बल्लेबाजी की है। 2018-19 सत्र मेरे लिए मुख्य रूप से बहुत स्पेशल था और इसमें खेली गई ऑस्ट्रेलियाई सीरीज सबसे ज्यादा। व्यक्तिगत रूप से मुझे काफी आत्मविश्वास मिला। उसके बाद, मुझे एहसास हुआ मेरा खेल बेहतर हुआ है, लेकिन समय-समय की बात है। मैंने अभी टेस्ट क्रिकेट में बहुत रन मारे लेकिन एक चरण ऐसा भी था जब मैं टेस्ट क्रिकेट में रन नही बना पा रहा था। लेकिन पिछले दो साल मेरे लिए बहुत शानदार रहे है और मैं आगे भी ऐसा ही खेल जारी रखना चाहूंगा। मैंने हाल में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में सौराष्ट्र के लिए कुछ मैच खेले और उनमें भी रन बनाए। चीजे बदली है और मैंने खेल के छोटे प्रारूप में भी स्कोर करना शुरू कर दिया है।

क्या आपको लगता है कि आप अपने करियर के चरम पर हैं?

मेरा चरम अभी आना बाकि है। मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं और मजे कर रहा हूं। लेकिन ऐसा उदाहरण हैं जहां मैंने घरेलू क्रिकेट में कुछ असाधारण पारियां खेली हैं और मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी ऐसा करना चाहता हूं। ऑस्ट्रेलिया एक उदाहरण था लेकिन आगे जाकर मैं यह करना जारी रखूंगा कि हम जहां भी टेस्ट क्रिकेट खेलेंगे मैं वहा रन बनाऊ।

स्थानीय लीग पर आपके विचार?

मैं सौराष्ट्र के खिलाड़ियों और कुछ अन्य लोगों से चेन्नई लीग के बारे में बहुत अच्छी बातें सुन रहा हूं। एक अंतरराष्ट्रीय मैच या प्रथम श्रेणी सीजन से पहले, कभी-कभी आपको मैच अभ्यास की आवश्यकता होती है इसलिए यह कुछ खेलों के लिए सही मंच है। इससे खेल के संपर्क में रहने का मौका मिलता है।

क्या आपको दुख होता है जब लोग आपको टेस्ट क्रिकेटर कहते हैं?

कभी-कभी चीजों को स्वीकार करना मुश्किल होता है लेकिन मैं इन्हे जाने देता हूं। मैं उसकी चिंता नही करता लोग क्यो सोचते है। हालांकि, अब लोगो की धारणा बदल रही है। जब से मैंने टी-20 में रन मारने शुरू किए है तो लोग कह रहे है यह कर सकता है। मुझे लगता है कि आईपीएल फ्रेंचाइजियो को भी इस बात का जल्द एहसास होगा।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के लिए 5-6 फिल्मों को अस्वीकार...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक लोगों, ज्यादातर महिलाओं ने शनिवार...

‘हैदराबाद में शाहीन बाग जैसे विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी’: पुलिस आयुक्त

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने शनिवार को कहा कि शहर में "शाहीन बाग़ जैसा" विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उनका...

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल की दिवार से खुद को...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -