Sun. May 19th, 2024

    भारत के चुनाव आयोग ने कोविड-19 की दूसरी लहर में उछाल के बीच हुए पांच राज्यों  के विधानसभा चुनाव के मतगणना वाले दिन यानी 2 मई या उसके बाद भी सभी विजय जुलूसों पर प्रतिबंध लगा दिया है। विधानसभा चुनाव तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल, असम और पुडुचेरी में आठ चरणों में निर्धारित किए गए थे, 27 मार्च से शुरू होकर 29 अप्रैल को समाप्त होंगे।

    “रिटर्निंग ऑफिसर से चुनाव प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए जीतने वाले उम्मीदवार या उसके अधिकृत प्रतिनिधि के साथ दो से अधिक व्यक्तियों को आने की अनुमति नहीं दी जाएगी” – चुनाव आयोग की अधिसूचना ने आज कहा।

    कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बीच, चुनाव आयोग ने चुनाव लड़ने वाले दलों और नेताओं को  कोरोना वायरस संक्रमण को कम करने के लिए प्रोटोकॉल का पालन करने की सख्त एतिहाद दी थी। हालांकि, ज्यादातर नियम केवल राजनीतिक संगठनों और उनके प्रतियोगियों द्वारा उल्लंघन में देखे गए, जिसमें विशाल रैलियां, रोड शो और मार्च शामिल थे।

    इस बीच कोरोना वायरस की दूसरी लहर, अपनी गति में विशाल और भयावह रूप लेती जा रही है। आज छठे दिन भारत ने 3 लाख कोरोना वायरस संक्रमण मामले और 2,771 से अधिक लोगों की मौतें देखी है, जो कि कुल मिलाकर 1.76 करोड़ से अधिक और मृतकों की संख्या 1,97,894  तक पहुंचा दी है।

    कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन करने वाले राजनीतिक अभियानों पर “सख्त अवहेलना” और “चुप्पी” के चुनाव आयोग पर आरोप लगाते हुए, मद्रास उच्च न्यायालय ने कल कहा था कि “बिना किसी लागत के संक्रमण की गिनती आगे बढ़ने  पर एक उत्प्रेरक बन सकती है”

    चुनाव आयोग को मद्रास उच्च न्यायालय की फटकार

    हालही में बहस के दौरान, मद्रास उच्च न्यायालय ने चुनाव आयोग को जोरदार फटकार लगाते हुए कहा था कि “आपकी संस्था कोविड-19 की दूसरी लहर के लिए अकेले जिम्मेदार है। आपके अधिकारियों पर हत्या के आरोपों को दर्ज किया जाना चाहिए। क्या आप किसी अन्य ग्रह पर थे जब चुनावी रैलियां आयोजित की जा रही थी?”

    उन्होंने (मद्रास उच्च न्यायालय) शुक्रवार तक परिणामों के दिन यानी 2 मई को  कोविड नियमों को लागू करने की योजना भी मांगी है। बिना कोविड-19 नियमों के गिनती भी रोकी जा सकती है, उच्च न्यायालय ने कहा।

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *