दा इंडियन वायर » राजनीति » चुनाव आयोग ने पंजाब विधानसभा चुनाव के तारीख़ में किया बदलाव, अब 14 फरवरी के जगह 20 फरवरी को होगा मतदान
राजनीति

चुनाव आयोग ने पंजाब विधानसभा चुनाव के तारीख़ में किया बदलाव, अब 14 फरवरी के जगह 20 फरवरी को होगा मतदान

भारतीय निर्वाचन आयोग (Election commission of India) ने गुरु रविदास जयंती के मद्देनजर एक प्रेस-नोट जारी कर पंजाब विधानसभा चुनाव के कार्यक्रम में परिवर्तन करने की घोषणा की। अब नए कार्यक्रम के अनुसार पंजाब के सभी 117 सीटों पर मतदान 20 फरवरी को होगा।
इससे पहले 8 जनवरी को पंजाब के साथ-साथ 4 अन्य राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर, के चुनाव कार्यक्रमों की घोषणा की गई थी जिसके अनुसार पंजाब में 14 फरवरी को मतदान होना था।

आख़िर क्यों किया गया यह परिवर्तन…

आयोग के प्रेस नोट के मुताबिक पंजाब के राज्य सरकार, कई राजनीतिक दल, और अन्य संस्थाओं ने श्री रविदास जयंती के कारण चुनाव के तारीख़ को आगे बढ़ाने की आयोग से मांग की थी। अभी कुछ दिन पहले ही पंजाब के मुख्यमंत्री श्री चरणजीत सिंह चन्नी ने चुनाव आयोग को खत लिखकर चुनाव की तारीख आगे बढ़ाए जाने की मांग की थी।

चुनाव के तारीख़ बढ़ाये जाने के पीछे ये है असली वजह…

दरअसल इस साल गुरु रविदास जयंती 16 फरवरी को है। हर साल गुरु श्री रविदास जी प्रकाशपर्व पर एक हफ्ते पहले से ही बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का  पंजाब से वाराणसी जाने का सिलसिला शुरू हो जाता है। ऐसे में पुराने तारीख़ पर अर्थात 14 फरवरी को चुनाव करवाने से राज्य के मतदाताओं की एक बड़ी संख्या मतदान की प्रक्रिया से बाहर रह जाएगी।

आयोग ने राज्य सरकार और पंजाब के मुख्य-निर्वाचन अधिकारी से बात करने के बाद इस मांग को स्वीकार करते हुए पंजाब राज्य के लिए नए चुनावी कार्यक्रम की घोषणा की।

नया चुनावी कार्यक्रम इस प्रकार है:-

चुनाव के अधिसूचना की तिथि:- 25 जनवरी 2022 (मंगलवार)
नामांकन की आख़िरी तिथि:- 1 फरवरी 2022 (मंगलवार)
जाँच प्रक्रिया (Scrutiny) की तिथि:- 2 फरवरी 2022 (बुधवार)
नाम वापस लेने की आख़िरी तिथि:- 4 फरवरी 2022 (शुक्रवार)
मतदान की तिथि:- 20 फरवरी 2022
मतगणना की तिथि : 10 मार्च 2022

राजनीतिक दलों ने किया स्वागत

चुनाव के तारीखों को आगे बढ़ाए जाने का लगभग सभी राजनीतिक दलों ने एक सुर में स्वागत किया। कांग्रेस के फायरब्रांड नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनाव आयोग के इस फैसले का स्वागत किया; वहीं मुख्यमंत्री श्री चन्नी ने चुनाव आयोग को उनकी मांग मान लेने के लिए धन्यवाद दिया।

सुखबीर सिंह बादल और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी इस फैसले का स्वागत किया। आम आदमी पार्टी ने भी इस फैसले को पंजाब के लोगों के लिए हितकारी बताया।

About the author

Saurav Sangam

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]