Tue. Jan 31st, 2023
    राष्ट्रपति शी जिनपिंग

    चीन के पूर्व भाग में शुक्रवार को विस्फोट हुआ था जिसमे तक़रीबन 47 लोगों की मृत्यु हो चुकी है और 90 लोग बुरी तरह जख्मी है। राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शुक्रवार को सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन में पूर्ण प्रयास करने के निर्देश दिए हैं। इस धमाके के बाद मृतकों की संख्या में निरंतर इजाफा हो रहा है।

    गुरूवार दोपहर को जिआंगसु प्रान्त के सिआंगशुई के केमिकल प्लाट में भयानक विस्फोट हुआ था। शी जिनपिंग अभी इटली की यात्रा पर है और उन्होंने पीड़ितों की खोज और बचाव अभियान में सम्पूर्ण प्रयास करने के निर्देश दिए हैं। केमिकल इंडस्ट्रियल काम्प्लेक्स में स्थित एक फैक्ट्री में 2:48 बजे आग लग गयी थी।

    ख़बरों के मुताबिक “640 लोगों को मेडिकल के इलाज के लिए अस्पताल ले जाय गया था। इनमे से 32 लोगों के हालत बेहद गंभीर है और 58 लोगों को गंभीर जख्म है। ईमारत के धक्के के कारण सभी दरवाजे बंद हो गए और कर्मचारी अंदर ही फंस गए थे। साथ ही नजदीक में स्थित घरो की खिड़किया भी तहस-नहस हो गयी थी।”

    चश्मदीद गवाहों के अनुसार लहूलुहान फैक्ट्री में विस्फोट के बाद कई कर्मचारी बाहर की तरफ भाग रहे थे। इस विस्फोट में भूकंप के 2 मार्क को पार कर दिया है।

    एक गवाह ने बताया कि “विस्फोट से नजदीक के स्कूलों की खिड़किया बिखर गयी थी और इससे चार लोग जख्मी हुए थे।यह विस्फोट भूकंप के माफिक था।”

    चीन में अगस्त 2015 के बाद यह सबसे भयावह दुर्घटना थी। उस दौरान बीजिंग के नजदीक टीएनजीएन शहर में केमिकल एक्सप्लोशन के कारण 163 लोग मारे गए थे और सैकड़ों लोग बुरी तरह जख्मी हुए थे। इस क्षेत्र में सात समुदाय के 17000 घर तबाह या तहस नहस हो गए थे।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *