Sat. Feb 4th, 2023
    चीन और पाकिस्तान

    बीजिंग, 13 मई (आईएएनएस)| चीन ने पाकिस्तान के बंदरगाह शहर ग्वादर में एक पांच सितारा होटल पर हुए आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की है। ग्वादर की विकास परियोजनाओं में चीन निर्णायक भूमिका निभा रहा है।

    तीन बंदूकधारी शनिवार को ग्वादर के पर्ल कांटीनेंटल होटल में घुस गए और होटल के चार कर्मचारियों और नौसेना के एक अधिकारी की हत्या कर दी। सुरक्षा बलों ने तीनों को मार गिराया।

    पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत में स्थित यह होटल चीन के कर्मियों का पसंदीदा ठिकाना रहा है। ग्वादर शहर को चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के तहत चीन द्वारा विकसित किया जा रहा है।

    चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा, “चीन आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करता है। हम पाकिस्तान के उन सुरक्षा कर्मियों को श्रद्धांजलि देते हैं जिन्होंने अपने प्राणों का बलिदान दिया और इनके परिवारों के प्रति पूरी सहानुभूति जताते हैं।”

    उन्होंने कहा कि हमले में कोई चीनी नागरिक नहीं मारा गया।

    शुआंग ने कहा, “पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने आतंकियों से निपटने और क्षेत्रीय सुरक्षा व स्थिरता के लिए त्वरित कदम उठाए। चीन उनके प्रयासों की सराहना करता है। हम आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान के प्रयासों में सदैव उसका साथ देंगे। हमारा मानना है कि पाकिस्तान सरकार और वहां के सुरक्षा बलों में राष्ट्रीय सुरक्षा और स्थायित्व को बनाए रखने की योग्यता है।”

    उन्होंने कहा, “हमने हमले के खिलाफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की निंदा को देखा है। उन्होंने इसे पाकिस्तान की आर्थिक परियोजनाओं को तबाह करने का प्रयास बताया है। उन्होंने यह भी कहा है कि पाकिस्तान इस एजेंडे को कामयाब नहीं होने देगा। हम पाकिस्तान के विकास में लगातार सहयोग जारी रखेंगे।”

    अरबों डालर की सीपीईसी चीन की बेल्ट एंड रोड कनेक्टिविटी परियोजना का सर्वाधिक महत्वपूर्ण हिस्सा है। वित्तीय मुद्दों को लेकर इस पर विवाद होता रहा है। बलूचिस्तान के लोगों का कहना है कि इससे उनका विस्थापन हुआ है लेकिन बदले में कुछ खास नहीं मिला है। परियोजना पर काम करने वाले चीनियों पर हमले हुए हैं जिससे चीन चिंतित है।

    इस सबके अलावा भारत भी इस आधार पर सीपीईसी का विरोध करता है कि यह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से होकर गुजरता है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *