Tue. Oct 3rd, 2023
    चीन अमेरिका व्यापार युद्ध

    अमेरिका और चीन बीच चल रहे व्यापार द्वंद्व को हवा देते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि चीन में परमाणु तकनीक के निर्यात पर पाबन्दी लगाई जाएगी। डोनाल्ड ट्रम्प ने तीखे शब्दों में कहा कि चेतावनी देने का मतलब ये न समझना कि अमेरिकी बेवकूफ हैं।

    अमेरिकी ऊर्जा विभाग ने कहा कि चीन को परमाणु तकनीक मुहैया कराने की प्रक्रिया को और मुश्किल बना देंगे। ऊर्जा विभाग के अधिकारी ने कहा कि हम अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते हैं।

    चीन यूएस-चीन परमाणु समझौते से परमाणु तकनीक के निर्यात का प्रयास करता है। उन्होंने कहा चीन को परमाणु तकनीक के निर्यात को ख़त्म नहीं करेंगे लेकिन अब अधिक जांच पड़ताल के बाद तकनीक निर्यात की जाएगी।

    अमेरिका ऊर्जा विभाग के माध्यम से तकनीक निर्यातक राष्ट्रों पर नज़र बनाये हुए हैं। तकनीक का प्रयोग शान्ति के लिए और तीसरे देश तक इस तकनीक को न पहुंचा देने की यह विभाग शिनाख्त करता है।

    आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार साल 2017 में अमेरिका ने चीन को 170 मिलियन डॉलर की परमाणु तकनीक निर्यात की थी। साल 2017 की वाणिज्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक चीन अमेरिका का सबसे विशाल परमाणु तकनीक का बाज़ार है और दूसरे पायदान पर ब्रिटेन है। अधिकारियों ने बताया कि इस फैसले से अमेरिकी उद्योग को थोड़े समय के लिए प्रभावित होगा।

    पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने साल 2015 में अमेरिका और चीन के मध्य परमाणु सहयोग के समझौते पर हस्ताक्षर किये थे। दो आर्थिक महाशक्तियों के मध्य रिश्तों में तनातनी बढ़ती ही जा रही है। हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अगर चीन व्यापार पर आँखें नीचे नहीं करता तो अमेरिका उसे आर्थिक असहनीय दर्द देगा।

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि अमेरिकी नागरिक बेवक़ूफ़ नहीं है। अगर में चांहू तो बहुत कुछ कर सकता हूँ लेकिन मैं नहीं करना चाहता बशर्ते चीन पटरी पर लौटे।

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्लू बुश और बराक ओबामा की चीन को व्यापार में मनमानी करने देने के लिए आलोचना की। उन्होंने कहा हमने चीन के पुनः निर्माण में मदद की हमने चीन को दोबारा खड़ा किया लेकिन ‘अब बस’ हो गया।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *