Tue. Jun 18th, 2024
    अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि “अमेरिका कथित रूप से प्रतिवर्ष चीन के साथ व्यापार में 500 अरब डॉलर की रकम का नुकसान उठा रहा था लेकिन अब वह इसे और नहीं करेंगे।” अमेरिका और चीन के बीच व्यापार वार्ता  जारी है।

    डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीट किया कि “अमेरिका दशकों से चीन के साथ व्यापार में 60 अरब डॉलर से 80 अरब डॉलर तक का नुकसान उठा रहा था, हमने 50 अरब डॉलर का नुकसान उठाया है। माफ़ कीजियेगा, अब हम इसे और बर्दाश्त नहीं करेंगे।

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1125356705787850753

    कही महीनो की व्यापार वार्ता के पश्चात डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिकी-चीनी व्यापार विवाद पर कठोर कदम उठाया था। मार्च में अमेरिका ने चीनी के उत्पादों पर लागू किये जाने वाले अतिरिक्त शुल्क को रोका था क्योंकि उस समय वार्ता में प्रगति हुई थी लेकिन यह दृष्टिकोण मौजूदा समय में परिवर्तित होता दिख रहा है।

    डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह वार्ता की रफ्तार से संतुष्ट नहीं है। साथ ही उन्होंने शुक्रवार से चीनी उत्पादों पर 200 अरब डॉलर के अतिरिक्त शुल्क लगाने की धमकी दी थी। रविवार को किये ट्वीट में डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि “10 महीनो से चीन हाई टेक के 50 अरब डॉलर के सामान पर 25 फीसदी अतिरिक्त शुल्क अदा कर रहा है और अन्य 200 अरब डॉलर के उत्पादों पर 10 फीसदी चुका रहा है।”

    उन्होंने कहा कि “यह कीमते हमारे आर्थिक परिणाम में बेहतरी के लिए आंशिक रूप से जिम्मेदार होगी। शुक्रवार को 10 प्रतिशत से 25 फीसदी कर दिया जायेगा। इस शुल्क से उत्पाद की कीमत पर थोड़ा असर पड़ेगा। अमेरिका के साथ व्यापार समझौता जारी रहेगा।”

    बीते वर्ष एर्जेन्टीना में जी-20 के सम्मेलन के इतर वांशिगटन और बीजिंग ने व्यापार जंग को वार्ता के जरिये सुलझाने पर सहमति जाहिर की थी। इस बाद दोनों पक्षों ने विभिन्न स्तर की वार्ता की थी। डोनाल्ड ट्रम्प के हालिया बयान बीजिंग पर दबाव बढ़ाने की लिहाज से थे। इस सप्ताह में दोनों पक्षों की दोबारा मुलाकात होगी।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *