Wed. Dec 7th, 2022
    भारत अमेरिकी विशेषज्ञ

    चीन संबंधों के अमेरिकी विशेषज्ञ ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ करते हुए उन्हें दुनिया का एकमात्र ऐसा राजनेता माना है जो की चीन की बेल्ट और रोड योजना का विरोध कर रहा है। ( सम्बंधित खबर : वन बेल्ट वन रोड योजना क्या है? )

    चीन संबंधों के अमेरिकी विशेषज्ञ माइकल पिल्सबरी ने कॉंग्रेस के सांसदों को कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व उनकी टीम चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की महत्वाकांक्षी बेल्ट और रोड परियोजना के खिलाफ काफी सक्रिय है।

    माइकल पिल्सबरी ने पीएम मोदी को दुनिया का एकमात्र ऐसा राजनेता माना है जो चीन के खिलाफ विरोध करने की हिम्मत रखता है। पीएम मोदी के साथ ही उनकी टीम को भी चीन के खिलाफ सफल रणनीतिकार माना है।

    पीएम मोदी की नेतृत्व क्षमता की तारीफ

    माइकल पिल्सबरी ने कहा पीएम मोदी व उनकी सरकार ने चीन के बेल्ट और रोड प्रोजेक्ट की आलोचना करते हुए इससे भारतीय संप्रभुता का उल्लंघन माना है। माइकल के अनुसार चीन का विरोध करना पीएम मोदी की नेतृत्व क्षमता को दिखाता है।

    वहीं अमेरिकी विशेषज्ञ माइकल पिल्सबरी ने कहा कि अमेरिका की सरकार ने इस मामले पर चुप्पी साधी हुई है। अमेरिका, चीन के खिलाफ खुद खड़ा न होकर भारत को आगे कर रहा है।

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के प्रशासन की तारीफ करते हुए पूर्व पेंटागन के अधिकारी ने कहा कि अमेरिका एशिया-प्रशांत क्षेत्र को भारत-प्रशांत क्षेत्र कहकर भारत के साथ संबंधों को मजबूती प्रदान कर रहा है।

    माइकल पिल्सबरी ने कहा कि चीन इसे भारत-प्रशांत क्षेत्र कहने पर कड़ा ऐतराज जता रहा है। माइकल पिल्सबरी ने कहा की चीन अमेरिका के ओबामा प्रशासन की काफी आलोचना करता है। क्योंकि चीन का मानना है कि ओबामा प्रशासन ने ही भारत को बढ़ावा दिया है।

    भारत ने चीन की बेल्ट और रोड प्रोजेक्ट का बहिष्कार करते हुए कहा था कि ये पीओके से होकर गुजरेगा जो कि भारत का हिस्सा है। भारत ने चीन के इस प्रोजेक्ट पर कड़ी आपत्ति दर्ज करवाई थी।