Sun. May 19th, 2024
    आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस टीवी एंकर

    दुनिया में मशीनीकरण या तकनीक में वृद्धि के साथ ही बेरोजगारी स्तर निरंतर बढ़ता जायेगा। चीन को आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस की तकनीक से पहला टीवी एंकर मिल गया है। इस एंकर की आवाज़ पुरुषों और चेहरे के हाव भाव बिलकुल सामान्य मनुष्य की तरह है। यह कृत्रिम तकनीक एक पेशेवर मनुष्य की तरह किसी भी आवाज़ और ध्वनि को आसानी से सुन सकता है।

    चीन में दो आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस अंग्रेजी और मंदारिन भाषा में न्यूज़ पढ सकते हैं। चीन के मीडिया हाउस के मुताबिक इस आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के कारण रोजाना की टीवी न्यूज़ का खर्च कम हो गया है। इनके 24 घंटे काम करने की तकनीक को सभी शुक्रिया कहेंगे। ये आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस ब्रेकिंग न्यूज़ को जल्द बनाने के लिए अपनी दक्षता सुधार सकता है। जो सामान्य न्यूज़ एंकर नहीं कर सकते हैं।

    सामान्य न्यूज़ एंकर के तरह ये भी तकनीक की मदद से आवाज़ और तस्वीरों को जोड़ सकते हैं। किसी न्यूज़ एंकर की तरह मशीन लर्निंग प्रोग्राम इनके होठों को घुमाने और हावभाव को प्रकट करता है। आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस टीवी एंकर अभी क्सिन्हुआ के इन्टरनेट, मोबाइल सेवाओं में उपलब्ध है। यह अंग्रेजी और मंदारिन भाषा में खबरे पढ़ता है।

    क्सिन्हुआ ने कहा कि आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में यह तकनीक काफी मायने रखती है। सर्च इंजन सोगोऊ ने  आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के विकास और अनुसंधान में मदद की है। क्सिन्हुआ ने इस प्रोजेक्ट के निर्माण के लिए तकनीक मुहैया करवाई है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *