Fri. Jul 19th, 2024
    नेपाल पुलिस

    नेपाल की पुलिस ने 2 सितम्बर को काठमांडू में छ चीनी नागरिको को गिरफ्तार किया था, वे सभी सुरक्षा प्रणाली को हैक करने की कोशिश कर रहे थे और विभिन्न एटीएम से करोडो रूपए निकाल रहे थे। हैकिंग की वारदात से कुछ दिनों पूर्व चार चीनी नागरिको को अगस्त में गिरफ्तार किया गया था और ये लोग दुल्हनो की तस्करी में शामिल है।

    चीनियों के लिए काम कर रहे नेपाली कर्मचारी लडकियों और महिलाओं को चीन में नौकरियों का झांसा देकर ले जते हैं। शादीशुदा नेपाली लडकियों की नीलामी की जाती है। 5 अगस्त को नेपाल के इंटरनेशनल एअरपोर्ट कस्टम डिपार्टमेंट ने एक चीनी नागरिक को पांच किलोग्राम सोने की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया था।

    तीन अन्य शिनी नागरिको को 11 अप्रैल को त्रिभुवन इंटरनेशनल एअरपोर्ट से तीन किलो पीले पदार्थ की तस्करी करने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया था। यह वारदाते न सिर्फ नेपाली पुलिस के लिए सरदर्द है बल्कि यह चीनी नागरिको के लिए एक अपराधिक गढ़ बनता जा रहा है।

    चीनी तस्कर तातोपानी बॉर्डर को सोने की तस्करी के लिए इस्तेमाल करते हैं। यह नेपाल और चीन की सीमा पर है और साल 2015 में आये भयावह भूकंप से काफी क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके बाद चीनी अपराधियों ने रसुवा-केरुंग बॉर्डर को उत्पादों की तस्करी के लिए इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था।

    नेपाल की बैंकिंग प्रणाली सुरक्षा बेहद खस्ताहाल हिया और चीनी अपराधी उनका इस्तेमाल अपने फायदे के लिए कर रहे हैं। हैकिंग के मामले में एक चीनी नागरिक को गिरफ्तार किया था। नेपाल के केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो के पूर्व प्रमुख हेमंत मल्ला ने कहा कि “पहली चीज यह है कि बैंक को खुद सचेत रहना चाहिए क्योंकि हम तकनिकी क्रांति के दौर में प्रवेश कर चुके हैं हमने बैंकिंग को ई बैंकिंग में बदल दिया है और और अब हम इससे पीछे नहीं हट सकते हैं।”

    मल्ला ने कहा कि “आमतौर पर वह बैंक के खातो की जानकारी को चुराते हैं और इसके बाद वह एटीएम पर डाटा को लोड करते हैं और नेपाली बैंक से जितनी चाहे राशि को निकाल लेते हैं। वे हमारे बैंक का इस्तेमाल एक गेटवे के रूप में करते है और चुराया गाया पैसा नेपाल का नहीं होता है बल्कि विदेशी बैंक का होता है। न सिर्फ चीनी बल्कि नया देशो के नागरिको को भी गिरफ्तार किया जा रहा है।”

    मल्ला ने कहा कि “हम चीनियों की बात कर रहे हैं, यहाँ बहुत सारे संस्थान है। नेपाल पुलिस में असी कई अधिकारी है जो फ्रांस और नेपाल की भाषा बोल सकते हैं।” चीन नागरिक नेपाल में अपराधिक गतिविधियों को अंजाम देते है और काठमांडू ने अभी तक इस मामले को उच्च स्तर पर नहीं उठाया है।”

     

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *