ग्लिसरीन, गुलाब जल और नींबू के फायदे, लगाने का तरीका

ग्लिसरीन, गुलाब जल और नींबू


ग्लिसरीन को गुलाब जल और नींबू के रस के साथ मिलाकर इस्तेमाल करना कोई नयी बात नहीं है।

कई सालों से इन्हें टोनर और फेस पैक के रूप में इस्तेमाल किया गया है। इसे टोनर और फेस पैक का सबसे पुराना प्रकार भी कहा जा सकता है।

ग्लिसरीन, गुलाब जल, नींबू का मास्क कैसे बनाएं?

इस मास्क को बनाने के लिए:

  1. एक चम्मच ग्लिसरीन में, सामान्य संख्या में निम्बू का रस मिलाएँ।
  2. इसमें दो चम्मच गुलाब जल मिलाएँ।
  3. इसे अपने चेहरे पर लगभग 15-20 मिनट तक लगाकर रखें, और फिर चेहरा धो लें।

इस मास्क को हम अधिक मात्रा में बनाकर स्टोर भी कर सकते हैं।

ग्लिसरीन, गुलाब जल, नींबू लगाने के फायदे

1. मुँहासे के लिए

गुलाब जल में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो हमारी त्वचा के उन बैक्टीरिया से लडते हैं, जिनके कारण मुँहासे पनपते हैं।

इससे, हमारे मुँहासे कम हो जाते हैं। जब हम इसमे नीम्बू और ग्लिसरीन भी मिलाते हैं, तो कम पडे हुए मुँहासे फिर से आसानी से नहीं पनपते हैं।

2. छिद्र को साफ करने के लिए

नीम्बू और ग्लिसरीन के कारण, जब हम ये पैक या मास्क को लगाते हैं तो हमारे त्वचा के पोर्स खुल जाते हैं।

ये खुले हुए पोर्स साफ होने के बाद, गुलाब जल के कारण ये बंद हो जाते हैं। बंद होने के साथ-साथ, ये पोर्स फिर से आसानी से गंदगी मेहसूस नहीं करते हैं।

3. चेहरे के लालपन को घटाना

इस मास्क को इस्तेमाल करने से, हमारे चेहरे के लालपन का भी इलाज हो सकता है।

लेकिन, इस प्रयोग के अच्छे फायदे देखने के लिए, आपको इस पैक का इस्तेमाल नियमित तौर पर करना होगा। सिर्फ एक-दो दिन करने से, इस नुस्के के फायदे आपको नहीं प्राप्त होएँगे।

4. त्वचा को आराम पहुँचाने के लिए

गुलाब जल और नीम्बू के कारण हमारी त्वचा बहुत्त ही हल्की और सुहानी मेहसूस करती है। इसके कारण हमारी त्वचा में एक अलग ही निखार नज़र आती है।

5. फटी ऐडियों के लिए

कहा जाता है कि गुलाब जल से हमारी कोशिकाओं का विकास एक तेज़ रफ्तार में होता है। इसके कारण, यह फटी एडियों का भी इलाज कर देता है।

सिर्फ फटी एडियाँ ही नहीं, बल्कि हमारे त्वचा से जुडी किसी भी प्रकार की बीमारी का ये सबसे अच्छा इलाज है।

6. त्वचा को पानी देना

ग्लिसरीन में ह्यूमक्टंट्स नाम का एक तत्व पाया जाता है, जिससे हमारी त्वचा को पानी प्रदान किया जाता है।

इसका इस्तेमाल, सबसे ज़्यादा हमें सर्दी के मौसम में करना चाहिए। इसे लगाने से, हमारा चेहरा ज़्यादा तेल्टा भी नज़र नहीं आता है।

7. तेल्टेपन से राहत

नीम्बू और ग्लिसरीन के मिलन के कारण, हमारी त्वचा से अतिरिक्त तेल, निकाल दिया जाता है।

इससे हमारी त्वचा को पानी का तत्व भी मिलता रहेगा और हमारा चेहरा, तेल्ट भी नज़र नहीं आएगा।

8. गोरेपन और बेदाग त्वचा के लिए

अगर हम नियमित तौर पर इस मास्क का इस्तेमाल करें, तो हमारा चेहरा बिल्कुल बेदाग नज़र आता है।

नीम्बू में कुछ ऐसे तत्व होते हैं जिनकी वजह से हमारी त्वचा को गोरापन भी प्राप्त होता है। इसलिए, गोरेपन और बेदाग त्वचा का फायदा देखने के लिए, इस मास्क को नियमित तौर पर इस्तेमाल करना बहुत ही आवश्यक है।

ये थे ग्लिसरीन, गुलाब् जल, और नीम्बू के मास्क के फायदे। हर नुस्के की तरह, इसे भी अगर नियमित तौर पर, सही मात्राओं में अपनाया जाए, तो इसके अनेक फायदे हमें चमात्कार जैसे नज़र आएँगे।

अगर आपका इस विषय में कोई भी सवाल या सुझाव हो, तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here