दा इंडियन वायर » टैकनोलजी » ग्राफिकल यूजर इंटरफेस क्या है? परिभाषा, जानकारी
टैकनोलजी

ग्राफिकल यूजर इंटरफेस क्या है? परिभाषा, जानकारी

ग्राफिकल यूजर इंटरफेस graphical user interface in hindi

ग्राफिकल यूजर इंटरफेस की परिभाषा (definition of gui in hindi)

परिभाषा – ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस (जीयूआई) एक तरह का यूजर इंटरफ़ेस है जो की उपयोगकर्ता को कम्प्युटर उपकरणों की मदद से विज्वल इंडिकेटर और ग्राफिकल आइकॉन को दिखने का काम करता है।

बड़े बड़े ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे की विंडोज, मैक, आयोस आदि सभी में ग्राफिकल इंटरफ़ेस होता है, जिसमे की आप किसी भी आइकॉन पर क्लिक करके उस एप या जो भी चीज़ है उसे चला सकते हैं।

शुरुआत में जीयूआई को माऊस और कीबोर्ड की मदद से चलाया जाता था पर आजकल यह काफी मोबाइल उपकरणों में चलते हैं जैसे की स्मार्टफोन, टैब्लेट आदि।

इन उपकरणो में काफी तरह की तकनीकी को एक साथ लगाया जाता है जिससे की यह सही से काम कर सकें।

कमांड लाइन ऑपरेटिंग सिस्टम और सीयूआई के जैसे यह कठिन नहीं होते यह जीयूआई याद करने में थोड़े आसान होते हैं।

जीयूआई में न तो किसी तरह का कोड लिख कर कमांड देने की जरूरत होती है ना ही किसी प्रोग्राममिंग भाषा को याद रखना होता है।

जीयूआई को बनाने वाला कोई एक नहीं था इसके पीछे काफी तकनीकी विशेषज्ञों के नाम जुड़े हुए हैं। जीयूआई हर साल काफी बेहतर होता जा रहा है।

ग्राफिकल यूजर इंटरफेस का अतीत (history of gui in hindi)

पहला ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस 1981 में बनाया गया था जो की ज़िरॉक्स पार्स के एलन केय, डगलस एंगेल्बर्ट ने और वैज्ञानिकों की मदद से इसको बनाया था।

उन्होने इस बात को ध्यान में रखकर इसे बनाया था की अगर हम ऑपरेटिंग सिस्टम की कोई ग्राफिकल रीप्रेसेंटेशन बनाएँगे तो यह लोगो को उपयोग करने में और भी आसान होगी।

पहला जो उपयोग किया गया था जीयूआई का वह 1983 में एपल के लिसा कम्प्युटर में किया गया था। इससे पहले के कम्प्युटर एमएस डीओएस और लिनक्स यूआई में कमांड लाइन का इस्तेमाल करते थे क्यूंकी इनका इस्तेमाल लोगों के खुद से ज्यादा बिज़नेस में होता था।

एपल मैक इनतोष में जीयूआई का इस्तेमाल किया गया। इसके बाद इस उत्पाद को बाज़ार में आने के एक साल बाद ही यह काफी लोकप्रिय उत्पाद माना जाने लगा और काफी लोग इसका इस्तेमाल करने लगे।

माइक्रोसॉफ़्ट ने भी फिर जीयूआई का अपने विंडोज में इस्तेमाल किया जिससे की वह बेहतर तरीके से काम कर सके।

ग्राफिकल यूजर इंटरफेस के फायदे (benefits of gui in hindi)

जीयूआई का जो प्रमुख फायदा है वह यह है की यह सब तरह से लोगो को आसान लगता है चाहे वह इस क्षेत्र में शुरुआत कर रहा हो या फिर काफी अच्छा विशेषज्ञ हो।

यह हर चीज़ को आसान बना देते हैं, जैसे की मेनू खोलना, फाइल को इधर उधर डालना, किसी भी प्रोग्राम को इंटरनेट की मदद से चलाना और इसी तरह से बाकी के कार्य करने में यह काफी सक्षम होते हैं।

जीयूआई उसी वक़्त सारे परिणाम दे देता है जैसे की आपने किसी आइकॉन पर क्लिक करा है तो वह उसी वक़्त खुल जाएगी।

ग्राफिकल यूजर इंटरफेस के नुकसान (disadvantage of gui in hindi)

जीयूआई काफी तरह की प्रोसेसिंग पावर इस्तेमाल करती है जिससे की टेक्स्ट पर निर्भर करने वाला यूआई हम इस्तेमाल कर सकें।

काफी लोगों को यह बेकार लग सकता है लेकिन क्योंकि इसमे काफी तरह के काम होते हैं इसलिए यह हमारे लिए उपयोगी होता है।

यूआई की मदद से हम इसमे कोई भी कार्य करवा सकते है किसी भी टेक्स्ट को लिखकर जिससे की यह उस कमांड को समझ सके और काम कर सके।

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

अभिषेक विजय

1 Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]