गोल्फ : 33वें ऊषा जूनियर ट्रेनिंग प्रोग्राम के तीसरे कैम्प का समापन हुआ

golf

नई दिल्ली, 12 जून (आईएएनएस)| ऊषा इंटरनेशनल दिल्ली गोल्फ क्लब के जूनियर ट्रेनिंग प्रोग्राम (जेटीपी) के साथ 2006 से जुड़ा हुआ है। इसका प्रमुख उद्देश्य 8 से 17 वर्ष के नौजवान लड़के-लड़कियों का गोल्फ से परिचय कराना और गोल्फ के खेल में दिलचस्पी रखने वाले प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ियों की खोज करना है।

33वें ऊषा जूनियर ट्रेनिंग प्रोग्राम को 10 दिन के चार कैम्प में बांटा गया है, जिसका आयोजन 13 मई से 21 जून 2019 के बीच किया जायेगा। तीसरे कैम्प का समापन मंगलवार को दिल्ली गोल्फ क्लब में हुआ।

निशिता सलवान, रबानी कौर, अमृता दास, नेत्रा सूरी, हिरांश सिंह और मोहम्मद ईसा ने पुटिंग, चिपिंग, पिचिंग, बंकर,लॉन्ग ड्राइव और प्लेईंग प्रतियोगिताओं जैसी श्रेणियों में सबसे अधिक संख्या में पुरस्कार जीते।

तीसरे कैम्प में 50 प्रतिभाशाली युवाओं को श्री विक्रम सेठी के मार्गदर्शन में प्रशिक्षित किया गया। प्रतिभाशाली युवाओं के बेहतरीन प्रदर्शन से खुश होकर श्री विक्रम सेठी ने कहा, “हमने कुछ अद्भुत टैलेंट देखा और हम युवा प्रतिभाशाली जूनियर्स को निखारने के लिए तत्पर हैं। मैं ऊषा इंटरनेशनल का शुक्रगुजार हूं जिसने प्रोग्राम को समर्थन दिया और उम्मीद है कि वे इस अनूठी भागीदारी को जारी रखेंगे ताकि भारत में विश्वस्तरीय गोल्फर्स की पहचान कर उन्हें प्रशिक्षित किया जा सके।”

उन्होंने कहा, “पिछले कई वर्षो से, प्रोग्राम ने विश्वस्तरीय प्रोफेशनलगोल्फर्स का ट्रेनिंग ग्राउंड बनने की साख कमाई है। इसमें शिव कपूर, डेनियल चोपड़ा, राशिद खान, और गौरी मोंगा जैसे खिलाड़ी शामिल हैं जोकि जेटीपी के पूर्व प्रतिभागी रह चुके हैं।”

कैम्प में हिस्सा लेने वाले प्रतिभागियों को उनकी क्षमता के स्तर के अनुसार बिगनर्स, इंटरमीडिएट और एडवांस्ड श्रेणियों में बांटा गया है। इस ट्रेनिंग कैम्प में रोजाना दो घंटे के लिए होने वाले सेशन में गेम के विभिन्न पहलुओं जैसे लॉन्ग ड्राइव, पुटिंग, चिपिंग, बंकर और पिचिंग का प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके साथ ही इन नौजवानों को खेल के नियम कायदे भी सिखाए जा रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here