Tue. Jan 31st, 2023
    खालिस्तान आन्दोलन के नेता प्रमुख के साथ नवजोत सिंह सिद्धू

    पाकिस्तान के करतारपुर साहिब गलियारे के शिलान्यास समारोह के बाद मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू खालिस्तानी चरमपंथी गोपाल सिंह चावला के साथ तस्वीर खिंचा रहे थे, जिसे बाद में सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया था। नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि वह नहीं जानते कि गोपाल सिंह चावला कौन है।

    इसके आलावा पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जावेद कमर बाजवा ने खालिस्तान की मांग (भारत से अलग पंजाब) करने वाले नेता गोपाल सिंह चावला से हाथ मिलाया था। पाकिस्तान ने इस मुलाकात पर टिप्पणी करते हुए कहा कि सेनाध्यक्ष खालिस्तानी नेता का स्वागत कर रहे थे।

    खालिस्तानी चरमपंथी के साथ मंत्री सिद्धू की तस्वीर के बाबत पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने कहा कि मैंने पांच से 1000 बार तस्वीरे खिंचवाई है और मुझे नहीं मालूम नहीं कि यह शख्स कौन है।

    पाकिस्तानी अधिकारी ने बताया कि चावला पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी का वरिष्ठ नेता है और उसे सिख समुदाय से सम्बंधित सभी जलसों में आमंत्रित किया जाता है। कनाडा में खालिस्तानी समर्थक समूह सिख फॉर जस्टिस ने भारत से अलग सिखों के एक मुल्क के लिए 2020 जनमत संग्रह आन्लोदन का आगाज किया था।

    पंजाब के अकाली दल ने मंत्री सिद्धू से सवाल पूछा कि क्या उसकी प्राथमिकता भारत है या नहीं। अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने कहा कि गोपाल चावला और अमृतसर में हुए निरंकारी हमले के मध्य कोई ताल्लुक तो जरुर है। उन्होंने कहा कि अगर मंत्री किसी के साथ हाथ मिलाते है या कुछ और करते हैं, तो इसका जवाब उन्हें देना होगा कि उनकी प्राथमिकता भारत है भी या नहीं।

    भाजपा के सांसद ने कहा कि जब पीएम मोदी ने नीरव मोदी के साथ खिंचवाई तस्वीर पर राहुल गाँधी ने बवाल मचा दिया था। अब वह सिद्धू की तस्वीरों के बारे में क्या कहेंगे। उन्होंने कहा कि या तो राहुल गाँधी को पीएम मोदी से माफ़ी मांगनी होगी या सिद्धू को बर्खास्त करना होगा।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *