शनिवार, दिसम्बर 7, 2019

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या में शामिल सऊदी अरब अधिकारी पर प्रतिबंधो का विधेयक कांग्रेस में पारित

Must Read

जीएसटी परामर्श दिवस पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सुझाव मांगे

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लिए रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए...

हॉकी : भारतीय महिला जूनियर टीम ने न्यूजीलैंड को 4-1 से हराया

भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम ने यहां जारी तीन देशों के हॉकी टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते...

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए इंग्लैंड की टेस्ट टीम में लौटे जेम्स एंडरसन और मार्क वुड

इसी महीने होने वाले दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए जेम्स एंडरसन इंग्लैंड की टेस्ट टीम में वापसी हुई है।...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

अमेरिका के सांसदों ने सोमवार को सर्वसम्मति से एक विधेयक को पारित कर दिया है जिसके तहत जमाल खशोगी की हत्या में शामिल सऊदी अरब के अधिकारी पर प्रतिबन्ध लागू कर दिए गए हैं। इस विधेयक को प्रस्तावित सांसद टॉम मलिनोव्सकी किया था और कांग्रेस ने 405 मतों से सऊदी अरब मानव अधिकार और उत्तरदायी विधेयक को पारित कर दिया था।

इस विधेयक में राष्ट्रीय ख़ुफ़िया विभाग के डायरेक्टर को सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या में शामिल सभी आरोपियों की पहचान सार्वजानिक करनी होगी। इसके तहत आरोपियों पर यात्रा पाबन्दी और वीजा प्रतिबन्ध लगाये जायेंगे।अन्य बिल का मकसद सऊदी अरब द्वारा महिला मानव अधिकार कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेने और कथित तौर पर शोषण करने की आलोचना करना था।

यह बिल आज कांग्रेस के निचले सदन में पारित हो गया है। रिपब्लिकन ने भी इस बिल का समर्थन किया है जबकि डोनाल्ड ट्रम्प क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का बचाव कर रहे हैं जो इस हत्या के आदेश देने के मुख्य आरोपी है। जमाल खशोगी द वांशिगटन पोस्ट में पत्रकार और सऊदी शासन के मुखर आलोचक थे।

जमाल खाशोगी की हत्या बीते वर्ष तुर्की में स्थित सऊदी के दूतावास में की गयी थी। शुरुआत ने सऊदी ने इस हमले की जिम्मेदारी लेने से इंकार कर दिया था। अलबत्ता कुछ दिनों के  बाद सऊदी अरब के अधिकारीयों ने गुनाह कबूल लिया था कि पूछताछ के दौरान पत्रकार की हत्या की गयी थी। तुर्की ने भी हत्या का आरोप क्राउन प्रिंस पर लगाया था।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने व्यक्तियों पर प्रतिबन्ध थोपे थे लेकिन सऊदी अरब के साथ गर्मजोशी के संबंधों को कायम रखे है क्योंकि वह अमेरिकी हथियारों को खरीद रहे हैं और ईरान के साथ शत्रुतापूर्ण व्यवहार कर रहे हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

जीएसटी परामर्श दिवस पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सुझाव मांगे

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लिए रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए...

हॉकी : भारतीय महिला जूनियर टीम ने न्यूजीलैंड को 4-1 से हराया

भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम ने यहां जारी तीन देशों के हॉकी टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए शनिवार को न्यूजीलैंड को...

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए इंग्लैंड की टेस्ट टीम में लौटे जेम्स एंडरसन और मार्क वुड

इसी महीने होने वाले दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए जेम्स एंडरसन इंग्लैंड की टेस्ट टीम में वापसी हुई है। एंडरसन एशेज सीरीज के पहले...

मायावती ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलकर महिला सुरक्षा पर कड़े कदम उठाने की अपील

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद उत्तर प्रदेश के विपक्षी दलों ने सड़क पर उतर कर सरकार के खिलाफ मोर्चेबंदी की। सपा, कांग्रेस...

एप्पल 2021 में लॉन्च कर सकती है पूर्ण वायरलेस आईफोन

प्रसिद्ध विश्लेषक मिंग-ची कुओ ने खुलासा किया है कि एप्पल कंपनी 2021 में पूरी तरह से वायरलेस आईफोन लॉन्च करने की योजना बना रही...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -