Tue. Dec 6th, 2022
    रणदीप सिंह सुरजेवाला

    कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने रविवार को कहा कि मनोहर लाल खट्टर की भाजपा सरकार के कार्यकाल में हरियाणा में विदेशी निवेश पूरी तरह ठप्प पड़ गया है।

    उन्होंने आरोप लगाया कि ‘मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उनके कैबिनेट सहयोगी जनता के मेहनत के पैसों को एक के बाद एक विदेशी टूर करने में बर्बाद किया लेकिन फिर भी कोई विदेशी निवेश नहीं आया राज्य में।

    सुरजेवाला ने एक आरटीआई के जवाब में ‘हरियाणा राज्य औद्योगिक और बुनियादी ढांचा विकास निगम’ के रिपोर्ट के आधार पर ये बातें कही।

    हरियाणा के पूर्व ,उद्द्योग मंत्री सुरजेवाला ने कहा ‘कांग्रेस के शासन (2009-2014) के दौरान पहले दो साल 2009 से 2011 तक राज्य में 1,086 करोड़ का विदेशी निवेश आया जो अगले दो सालों 2012 से 2014 के दौरान बढ़कर दुगुना हो गया।

    सुरजेवाला ने कहा कि ‘हरियाणा में खट्टर सरकार बनने के बाद पहले दो सालों 2015 और 2016 में सिर्फ 92 करोड़ का विदेशी निवेश आया जबकि 2017 और 2018 के दौरान एक पैसे का भी विदेशी निवेश नहीं आया जो खट्टर सरकार के बीमार औद्योगिक नीति को दर्शाता है।

    सुरजेवाला ने कहा ‘खट्टर सरकार ने दावा किया था कि विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए कई योजनाएं लागू की गई है लेकिन 13 नवम्बर को आरटीआई के जवाब में साफ़ साफ़ कहा गया है कि मुख्यमंत्री और उनके कैबिनेट मंत्रियों ने ‘खुशहाल हरियाणा निवेश सम्मलेन’ के नाम पर करोड़ों रुपये पानी की तरह बहाये।
    उन्होंने कहा कि ‘पिछली कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल में विकास और निवेश के मामले में राज्य को नंबर एक बना दिया था, लेकिन अब बीजेपी सरकार ने साढ़े चार साल के शासन के दौरान राज्य को विकास को शून्य पर ला दिया है जिसके कारण राज्य के युवा बेरोजगारी से बेहाल हो गए हैं।’

    सुरजेवाला ने कहा कि निवेश को आकर्षित करने के लिए राज्य शांति, भाईचारे और अच्छे क़ानून व्यवस्था की जरूरत होती है जिसे निवेशकों को उपलब्ध कराने में खट्टर सरकार बुरी तरह विफल साबित हुई है।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *