Sat. Feb 4th, 2023
    nitin-gadkari

    भाजपा की सहयोगी शिवसेना के सांसद संजय राउत ने दावा किया है कि आगामी लोकसभा में देश त्रिशंकु लोकसभा की तरफ बढ़ रहा है और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी इसका इंतज़ार कर रहे हैं।

    शिवसेना के मुख्यपत्र सामना के एग्जीक्यूटिव इडिटर राउत ने अपने रविवार को पत्रिका के लेख में लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी लोकप्रियता खो रहे हैं जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी की की लोकप्रियता निरंतर बढ़ रही है।

    राउत ने लेख में लिखा है “देश खंडित जनादेश की तरफ बढ़ रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके लिए जिम्मेदार है। मोदी को 2014 में पूर्ण बहुमत मिला था लेकिन उन्होंने इस मौके को बर्बाद कर दिया।” संजय राउत कहते हैं 2014 में लोग कांग्रेस को हारने के लिए इतने उतावले थे इसलिए मोदी लहर चली लेकिन अब हालात पूरी तरफ बदल चुके हैं।”

    लेख में संजय राउत कहते हैं – मोदी की विशाल छवि अब धूमिल होने लगी है। राहुल गाँधी की छवि भले ही मोदी जितनी विशाल न हो लेकिन मोदी से निराश लोगों ने अब उन्हें नोटिस करना शुरू कर दिया है। जबकि भाजपा के वरिष्ठ नेता आने वाले चुनावों में इसके संभावित खराब प्रदर्शन से चिंतित हैं, नितिन गडकरी के बयान इस बात का संकेत हैं कि हवा का रुख अब बदल चूका है। गडकरी जैसे नेता की आरएसएस के साथ-साथ अन्य भाजपा नेताओं में भी समान स्वीकृति है।

    उन्होंने दावा किया कि जब वह भाजपा अध्यक्ष थे (2009 से 2013 तक), गडकरी को दूसरे कार्यकाल से इनकार करने के लिए राजनीतिक साजिशें रची गईं। “उन्होंने पूर्ति समूह घोटाले में कई आरोपों का भी सामना किया और दूसरे कार्यकाल के लिए उन्हें मना कर दिया गया था। वो यादें अभी भी गडकरी के साथ है। अप्रत्यक्ष रूप से सुझाव देते हुए राउत ने कहा कि गडकरी अब 2019 की त्रिशंकु लोकसभा का इंतजार कर रहे हैं, इस मामले में केंद्रीय मंत्री शीर्ष पद के लिए सर्वसम्मति से उम्मीदवार बन सकते हैं।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *