दा इंडियन वायर » समाचार » राजस्थान : कोटा अस्पताल त्रासदी में मरने वाले बच्चों की संख्या 104 पहुंची, अस्पताल का दौरा करने वाले मंत्रियों का कालीन बिछा कर हुआ स्वागत
राजनीति समाचार

राजस्थान : कोटा अस्पताल त्रासदी में मरने वाले बच्चों की संख्या 104 पहुंची, अस्पताल का दौरा करने वाले मंत्रियों का कालीन बिछा कर हुआ स्वागत

राजस्थान के कोटा शहर में 100 से अधिक नवजात शिशुओं की मौत के बाद चर्चाओं में आने वाला जेके लोन अस्पताल शुक्रवार को अधिकारियों को परिसर में आने वाले मंत्रियों के स्वागत के लिए कालीन बिछाते देखा जाने के बाद एक बार फिर विवादों के घेरे में आ गया है। यह घटना उस वक्त की है, जब अस्पताल में 2 और नवजात बच्चों की मौत हो गई। जिसके बाद मरने वाले बच्चों की कुल संख्या 104 पहुंच गई है।

कोटा के अस्पताल में बच्चों की मौत को लेकर राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला लगातार जारी है। इसे लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने राजस्थान सीएम अशोक गहलोत से इस्तीफे की मांग की है। मायावती ने ट्विट के जरिए कहा है, अशोक गहलोत द्वारा दिए गए राजनीतिक बयान बहुत गैर जिम्मेदाराना और असंवेदनशील हैं। “यह बेहद शर्मनाक व निन्दनीय है,”।

मुख्यमंत्री गहलोत ने अपनी ओर से अस्पताल द्वारा किसी भी तरह की लापरवाही से इनकार किया है। उन्होंने यह भी कहा कि मरने वालों की संख्या को कम दर्शाने की कोशिश करते हुए कहा है कि “1000 बच्चे बीजेपी के शासन में मारे गए हैं, जबकि 100 बच्चे कांग्रेस के शासन में मारे गए हैं।” इसमें कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। मीडिया इस बात का मुद्दा बना रहा है।”

गुरुवार को ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, गहलोत ने आश्वासन दिया कि उनकी सरकार जेके लोन अस्पताल में बीमार शिशुओं की मौतों के लिए संवेदनशील है। लेकिन इस बात पर जोर दिया कि इस मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए।

कांग्रेस सीएम गहलोत ने यह भी कहा कि वह राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा गठित विशेषज्ञों की टीम का स्वागत करते हैं। उन्होंने ट्वीट किया “हम उनके परामर्श और सहयोग के साथ राज्य में चिकित्सा सेवाओं में सुधार के लिए तैयार हैं,”।

About the author

विन्यास उपाध्याय

Add Comment

Click here to post a comment




फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!