गुरूवार, अक्टूबर 17, 2019

केसीआर ने जगन मोहन रेड्डी से मुलाकात की, योजना के उद्घाटन समारोह के लिए न्योता दिया

Must Read

पाकिस्तान ने बाबरी मस्जिद का मुद्दा उठाया

इस्लामाबाद, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत के अंदरूनी मामलों में प्रत्यक्ष रूप से दखल देते हुए पाकिस्तान ने बाबरी मस्जिद...

पशुपालन से 4 गुनी हो सकती है किसानों की आय : सचिव (एक्सक्लूसिव इंटरव्यू)

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)। किसानों की आमदनी 2022 तक दोगुनी करने के मोदी सरकार के लक्ष्य को हासिल...

देवोलीना भट्टाचार्जी का जीवन परिचय

हिंदी सीरियल में आज्ञाकारी बहु के किरदार को दर्शाने वाली 'गोपी बहु' यानि 'देवोलीना भट्टाचार्जी' जिनके अभिनय को स्टार...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

अमरावती, 17 जून (आईएएनएस)| तेलंगाना (Telangana) के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (KCR) ने सोमवार को आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के अपने समकक्ष वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी (Jagan Mohan Reddy) से यहां मुलाकात की और उन्हें 21 जून को कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना के उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रित किया।

राव दोपहर बाद विजयवाड़ा पहुंचे और कनक दुर्गा मंदिर में प्रार्थना की। उसके बाद वह प्रदेश की राजधानी अमरावती क्षेत्र के तदेपल्ली में जगन रेड्डी के आवास गए।

केसीआर के रूप में प्रसिद्ध राव ने आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ दोपहर का भोजन किया और उन्हें कालेश्वर परियोजना के उद्घाटन के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने इसके साथ ही दोनों प्रदेशों के मुद्दों पर भी बातचीत की।

यह एक माह के अंदर ही केसीआर की विजयवाड़ा की दूसरी यात्रा है। वह जगन रेड्डी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे।

केसीआर ने 14 जून को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात थी और उन्हें भी इस परियोजना के उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रित किया था।

गोदावरी नदी पर बनी कालेश्वरम परियोजना को तेलंगाना का रूप बदलने वाली माना जा रहा है।

परियोजना की आधारशिला 2016 में रखी गई थी और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के प्रमुख और आंध्र प्रदेश में तब विपक्ष के नेता जगन रेड्डी ने इसका विरोध किया था और तेलंगाना पर गोदावरी नदी का पानी मोड़ने का आरोप लगाया था। उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू पर राज्य के हितों की रक्षा में विफल रहने का आरोप लगाया था।

हालांकि, जगन रेड्डी नीत वाईएसआरसीपी के आंध्र प्रदेश में सत्ता में आने के बाद से ही दोनों मुख्यमंत्रियों ने दोस्ताना संबंध विकसित करने के लिए लगातार बैठकें की हैं।

परियोजना की सहायता से 16 जिलों की 45 लाख एकड़ भूमि पर साल में दो फसलों को उगाने के लिए पर्याप्त जल मुहैया कराया जाएगा।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

पाकिस्तान ने बाबरी मस्जिद का मुद्दा उठाया

इस्लामाबाद, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत के अंदरूनी मामलों में प्रत्यक्ष रूप से दखल देते हुए पाकिस्तान ने बाबरी मस्जिद...

पशुपालन से 4 गुनी हो सकती है किसानों की आय : सचिव (एक्सक्लूसिव इंटरव्यू)

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)। किसानों की आमदनी 2022 तक दोगुनी करने के मोदी सरकार के लक्ष्य को हासिल करने में कृषि से संबद्ध...

देवोलीना भट्टाचार्जी का जीवन परिचय

हिंदी सीरियल में आज्ञाकारी बहु के किरदार को दर्शाने वाली 'गोपी बहु' यानि 'देवोलीना भट्टाचार्जी' जिनके अभिनय को स्टार प्लस के सीरियल 'साथ निभाना...

दिल्ली : फिर गिरा शेर के पिंजरे में युवक, उसके बाद क्या हुआ तमाशा?

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली स्थित चिड़िया घर में एक युवक गुरुवार को शेर के पिंजरे में जा गिरा। शेर के सामने युवक...

स्कंदगुप्त को इतिहास के पन्नों पर स्थापित करने की जरूरत : अमित शाह (लीड-1)

वाराणसी, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को कहा कि सम्राट स्कंदगुप्त के पराक्रम और उनके शासन चलाने की कला पर...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -