केरल: सबरीमाला से धारा 144 हटाने के लिए विपक्ष का विरोध प्रदर्शन जारी

Sabarimala-temple

केरल में एक तरफ जहाँ सत्ताधारी लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) सरकार सबरीमाला मुद्दे पर अपने रुख पर कायम है वहीँ विपक्षी पार्टियाँ भाजपा और यूडीएफ ने भी अपना विरोध प्रदर्शन बंद नहीं किया है।

ताजा टकराव में सोमवार को भाजपा और यूडीएफ कार्यकर्ताओं ने राज्य की राजधानी तिरुअनंतपुरम में सबरीमाला परिसर से धारा 144 हटाने के लिए भूख हड़ताल और सत्याग्रह पर बैठ गई है।

मंदिर परिसर से धारा 144 हटाने के अपनी साझा मांग के बाद भाजपा और यूडीएफ ने अपनी अलग अलग मांगों की एक और लिस्ट सामने की है।

यूडीएफ कार्यकर्ता परिसर से धारा 144 हटाने के लिए असेम्बली हॉल के बहार अपने अनिश्चितकालीन सत्याग्रह पर बैठे हैं अब उन्होंने पम्बा, निलाक्कल और सबरीमाला में सुविधाओं को बढाने की मांग शुरू कर दी है। यूडीएफ के जो विधायक अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हैं उनके नाम है कांग्रेस के वीएस शिवकुमार, आईयूएमएल परक्कल अब्दुल्ला और केरल कांग्रेस के एन जयराज।

इससे पहले सोमवार को, सबरीमाला मुद्दे पर उथल-पुथल के बाद लगातार चौथे दिन असेंबली कार्यवाही बाधित हुई थी, जिसके कारण दिन की बैठक सिर्फ 21 मिनट तक चली गई। केरल के विपक्षी नेता रमेश चेनिथला के करीबी सूत्र ने टीएनएम से बात करते हुए कहा कि यूडीएफ के सदस्य विधानसभा सत्र के दौरान अध्यक्ष के साथ सहयोग कर रहे हैं लेकिन तीन विधायकों का सत्याग्रह विधानसभा हॉल के बाहर जारी रहेगा जब तक कि उनकी मांग पूरी नहीं हो जाती।

सत्याग्रह जारी रहने के बावजूद सबरीमाला में मंगलवार रात 8 बजे तक धारा 144 को आगे बढ़ा दिया गया।

यूडीएफ के सत्याग्रह के साथ ही भाजपा के राज्य सचिव एएन राधाकृष्णन, जो केरला सचिवालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं, ने मांग की है कि के सुरेन्द्रन के ऊपर किये गए झूठे पुलिस केस के खिलाफ कड़ी कारवाई की जाये।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here