Wed. Apr 17th, 2024
    सातवा वेतन आयोग वेतन वृद्धि

    मंगलवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने कर्मचारियो के महंगाई भत्ते में 3 प्रतिशत की बढ़ोतरी की जिससे की लगभग 1 करोड़ से अधिक कर्मचारियों के लाभान्वित होने का अनुमान है। यह फैसला बैठक में लिया गया जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शामिल हुए थे।

    अरुण जेटली का बयान :

    इस मामले में भारतीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बयान दिया की” वर्तमान में कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 9 प्रतिशत पर है लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया है जिससे कर्मचारियों और पेंशनर्स दोनों को फायदा होगा। इससे आशा है की लगभग 48 लाख केंद्रीय सरकार कर्मचारी और 62 लाख पेंशनर्स को फायदा होगा।”

    इस फैसले को सातवें वेतन आयोग के आधार पर लिय गया है। बतादें की कुछ समय पहले ही रेलवे कर्मचारियों का भी वेतन बढ़ा दिया गया था जिसके बाद से ही केंद्रीय कर्मचारी इसका इन्तेजार कर रहे थे। इसके बाद पंजाब सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बटन में बढ़ोतरी की घोषणा की थी और अब सभी कर्मचारियों के लिए ये घोषणा कर दी गयी है।

    रेलवे कर्मचारियों का बढ़ा वेतन :

    सातवें वेतन आयोग के अंतर्गत ही चालु भत्ते में बढ़ोतरी किये जाने से रेलवे गार्ड, लोको पायलट और सहायक लोको पायलटों के वेतन में लगभग 200 फीसदी की बढ़ोतरी हो जायेगी।

    अभी तक इन कर्मचारियों को वेतन भत्ते के रूप में हर 100 किलोमीटर पर 255 रूपए की राशी मिल रही थी। वेतन आयोग द्वारा संशोधित किये जाने के बाद यह 520 कर दी गयी है। हालांकि इस प्रस्ताव को अभी वित्त मंत्रालय से मंजूरी मिलना बाकी है। अतः यह तभी लागू हो पायेगा जब वित्त मंत्रालय इसको मंजूरी देगा।

    शिक्षकों के वेतन में भी हुई बढ़ोतरी :

    रेलवे कर्मचारियों के वेतन बढ़ने के थोड़े समय बाद ही मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शिक्षकों के वेतन में भी बढ़ोतरी की घोषणा की थी जिसके अंतर्गत कुलपति, प्रो-वाइस-चांसलर, पीजी कॉलेज में प्रिंसिपल और अंडर ग्रेजुएट कॉलेजों में प्रिंसिपल के लिए संशोधित विशेष भत्ता क्रमशः 11,250 रुपये, 9000 रुपये, 6750 रुपये और 4500 रुपये हुआ। इससे कुल 30000 शिक्षको के लाभान्वित होने का अनुमान लगाया गया था। 

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *